Search latest news, events, activities, business...

Friday, December 9, 2016

अवीवा ने लाँच किया ‘‘अवीवा हार्ट केयर‘‘

-प्रेमबाबू शर्मा

अवीवा लाइफ इंश्योरेंस ने भारत में कपल्स के लिए अवीवा हार्ट केयर के नाम से अभी तक का पहला हार्ट इंश्योरेंस लाँच किया है।

इस प्रोडक्ट की सबसे बड़ी खूबी यह है कि इसमें एक ही पाॅलिसी में जीवन साथी और स्वयं के लिए मामूली अतिरिक्त प्रीमियम पर सुरक्षा मिलती है। अवीवा हार्ट केयर में बेसिक बीमा राशि समाप्त हो जाने पर गंभीर परिस्थितियों के लिए पाॅलिसी के लाभ को दोबारा इस्तेमाल करने का भी विकल्प है। इस पाॅलिसी के दायरे में हृदयधमनी संबंधी 19 हल्के, मध्यम और गंभीर समस्याओं तथा इलाज शामिल हैं। इलाज के खर्च का विचार किए बगैर एकमुस्त राशि का भुगतान किया जाता है। अवीवा हार्ट केयर एक समर्पित, व्यापक हार्ट केयर प्लान है जो इस संबंध में मौजूदा जरूरत को पूरा करता है।

अवीवा लाइफ इंश्योरंस के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ, श्री ट्रेवर बुल ने जानकारी देते हुए कहा कि, ‘‘अवीवा की टीम लोगों के स्वस्थ्य जीवन यापन के प्रति वचनबद्ध है। हमारी ”अच्छी सोच“ के सिद्धान्त के हिस्से के तौर पर हमने ”अवीवा हार्ट केयर“ पेश करने का विचार किया है। इस प्रोडक्ट का उद्देश्य हृदय को स्वस्थ्य रखने में लोगों की सहायता करना और उन्हें खुद एवं जीवन साथी के लिए स्वास्थ्य को प्राथमिकता बनाने के लिए उत्साहित करना है।“

कार्डिएक सर्जन डाॅ. नरेश त्रेहान ने कहा कि, ”भारत में 40 से कम उम्र वाले वर्ग में हृदयधमनी रोग की घटना 30 तक बढ़ गई है। आजकल भारत में यह सबसे तेजी से फैल रहे गंभीर बीमारियों में से एक है जिसमें हर साल 9.2 की दर से बढ़ोतरी हो रही है। हम अक्सर देखते हैं कि इलाज के लिए आने वाले लोगों के पास पर्याप्त आर्थिक सुरक्षा नहीं होती है।“

अवीवा के ब्रांड ऐम्बेसडर, सचिन तेन्दुलकर ने ऐसे उत्पाद की जरूरत बताते हुए कहा कि, ”एक खिलाड़ी के नाते मैं हमेशा से तंदुरुस्ती का ख्याल रखता हूँ। मेरा मानना है कि खुशहाल जीवन के लिए हृदय का स्वस्थ रहना जरूरी है। अवीवा हार्ट केयर जैसी बीमा पाॅलिसी से परिवारों को पारस्परिक स्वास्थ्य की देखभाल में आसानी होगी। मैं मानता हूँ कि परिवार को साथ रखने के लिए कपल्स में दोनों के हार्ट का बीमा सचमुच ”गुड थिंकिंग“ है।‘‘

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: