Search latest news, events, activities, business...

Friday, April 29, 2016

​जाइवी मोबाइल्स के नये प्रोडक्ट लांच

प्रेमबाबू शर्मा

जाइवी मोबाइल्स मैजिकाॅन इम्पेक्स प्रा. लि. के मोबाइल डिविजन ने भारत में फीचर फोन का नया प्रोडक्ट पोर्टफोलियो लांच किया है। इसमें शुरुआती कीमत 699रु. से लेकर 1199रु. के फोन हैं। शानदार स्टाइल के साथ आधुनिक तकनीक से निर्मित कम कीमत में बेहतरीन फोन है।

नई रेंज़ की लांच पर जाइवी मोबाइल्स के सीईओ पंकज आनंद ने कहा, ‘‘हमारा प्रयास रहा है कि हम ग्राहकों को कम कीमत में अच्छा फोन दे और आने वाले सात नए फोन पेश करने की खुशी है। ये उनकी चाहत और जरूरत पूरा करेंगे जो बाजार में उपलब्ध महंगे फोन नहीं खरीद सकते। हमारे फोन 699रु., 799रु., 849रु., 949रु., 1099रु. और 1199रु. कीमत में उपलब्ध है। हमारे फोन और चार्जर भारतीय मानक ब्यूरो (आईएसआई) से मान्यता प्राप्त हैं। ये ‘मेक इन इंडिया’ प्रोडक्ट हैं जो दिल्ली में हाल में स्थापित हमारे संयंत्र में बनेंगे।’’

जाइवी के हर फीचर फोन के लिए ‘दोगुनी बचत दोगुना फायदा’ स्कीम के तहत 9 वाट का एलईडी बल्ब फ्री है। यह स्कीम भी नरेंद्र मोदी की स्कीम ‘प्रकाश पथ’ - ‘उजाला की ओर’ के अनुुरूप है जिसका मकसद आम आदमी की बिजली और पैसे की बचत करना है।

स्कीम पर श्री पंकज आनंद, सीईओ, जाइवी मोबाइल्स ने कहा, ‘‘हमारी यह पहल भी देश में जन-जन को ऊर्जा सक्षमता का संदेश देने के सरकारी प्रयास के अनुरूप है। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस विचार से पूर्ण सहमत हैं कि बिजली संकट दूर करने का सस्ता उपाय बिजली बचाना है न कि बिजली पैदा करना। हमारी स्कीम जन-जन में बिजली बचत की चेतना लाएगी। हम भारत में फीचर फोन की पूरी रेंज़ पर एलईडी बल्ब फ्री देंगे।’’

कम्पनी देश में फीचर फोन बाजार की असीम संभावना का लाभ लेना चाहती है। यह आने वाले समय में इसके सारे डिवाइस भारत मंे बनाएगी। जाइवी मोबाइल्स भारत में ही बैट्री, चार्जर और हैण्ड्सफ्री बनाएगी जिससे ड्यूटी की बचत होगी जो वर्तमान में 29.5 प्रतिशत की दर से लागू है। बचत का लाभ ग्राहकों को दिया जाएगा।’’

इस अवसर पर सीईओ श्री पंकज आनंद के साथ श्री गुरदीप सिंह, निदेशक, श्री एन के मोंगा, निदेशक, सुश्री आंचल अरोड़ा - प्रोडक्ट मैनेजर और श्री हर्ष वर्धन- हेड मार्केटिंग भी मौजूद थे।

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: