Search latest news, events, activities, business...

Search & get (home delivered) HOT products @ Heavy discounts

Friday, April 22, 2016

गर्मियों में करें प्लान घूमने का तो, कुल्लू - मनाली है सैलानियों का पसंदीदा पर्यटन स्थल


अशोक कुमार निर्भय


अपने आप में स्वर्ग जैसा दिखने और महसूस करने वाला राज्य है हिमालय की गोद में बसा हिमाचल प्रदेश। हिमाचल में अनेक पर्यटन स्थल हैं लेकिन सैलानियों में सबसे लोकप्रिय है कुल्लू -मनाली आसपास का क्षेत्र। वैसे तो मनाली हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित कुल्लू घाटी का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। मनाली कुल्लू से उत्तर दिशा में केवल 40 किमी की दूरी पर लेह की ओर जाने वाले राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर घाटी के सिरे के पास स्थित है।

मनाली भारत का प्रसिद्ध पर्वतीय स्थल है। समुद्र तल से 2050 मीटर की ऊँचाई पर स्थित मनाली व्यास नदी के किनारे बसा हुआ है। सर्दियों में मनाली का तापमान 0° से नीचे पहुँच जाता है। मनाली में आप यहाँ के ख़ूबसूरत प्राकृतिक दृश्यों के अलावा हाइकिंग, पैराग्लाइडिंग, राफ्टिंग, ट्रैकिंग, कायकिंग जैसे खेलों का भी आनंद उठा सकते हैं। मनाली के जंगली फूलों और सेब के बगीचों से छनकर आती सुंगंधित हवाएँ दिलो दिमाग को ताज़गी से भर देती हैं। सबसे पहले बर्फ़ से ढकी हुई पहाडियाँ, साफ़ पानी वाली व्‍यास नदी दिखाई देती है। दूसरी ओर देवदार और पाइन के पेड़, छोटे छोटे खेत और फलों के बागान दिखाई देते हैं। पर्यटन मनाली छुट्टियाँ बिताने के लिए आदर्श स्‍थान है और लाहुल, स्‍पीति, बारा भंगल (कांगड़ा) और जनस्‍कर पर्वत शृंखला पर चढ़ाई करने वालों के लिए यह एक मनपसंद स्‍थान है। 

मनाली के मनोरम दृश्‍य और रोमांचकारी गतिविधियाँ मनाली को हर मौसम और सभी प्रकार के यात्रियों के बीच लोकप्रिय बनाती हैं। मनाली में स्थित प्रसिद्ध हिडिम्बा मंदिर का निर्माण महाराजा बहादुर सिंह ने 1553 में किया था। मनाली से मात्र तीन किलोमीटर दूर स्थित वशिष्ठ में महर्षि वसिष्ठ का प्रसिद्ध आश्रम तथा एक छोटा-सा मंदिर है। वशिष्ठ में गर्म जल के चश्मे भी हैं। मनाली के उत्तर में 4,000 मीटर की ऊँचाई पर स्थित रोहतांग दर्रा पीरपंजाल पर्वत श्रेणी में अवस्थित है। रोहतांग से 7 किलोमीटर उत्तर में अवस्थित त्रिलोकीनाथ के समीप चंद्रा और भागा नदियों का संगम होता है तथा व्यास नदी का उद्गम होता है। मनाली, हिमाचल प्रदेश इसी स्थान पर शिव के त्रिलोकीनाथ रूप का मंदिर है, जहाँ हमेशा दो अखंड ज्योतियाँ प्रज्जवलित रहती हैं। मनाली से 16 किलोमीटर दूर स्थित राहला जल-प्रपात एक अन्य प्रसिद्ध स्थल है। मनाली से 6 किलोमीटर दूर व्यास नदी की बायीं ओर अवस्थित जगतसुख भगवान शिव तथा सांध्य गायत्री के शिखर कला के प्राचीन मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। जीप सफारी अनछुए स्थानों तक पहुँचने का बेहतरीन ज़रिया जीप सफारी है। जीप मज़बूत वाहन होने के नाते दुष्कर स्थान तक आसानी से पहुंच सकती है। इसमें थार के मरुस्थल को पार कर सकते हैं और हिमालय पर जीप सफारी में मनाली से लेह तक का सफर तय किया जा सकता है। जीप सफारी के कुछ प्रमुख रुट हैं।

पास ही मणिकरण है यह प्रसिद्ध स्थल कुल्लू से 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मणिकरण हिन्दू और मुस्लिम दोनों का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहाँ के कई स्थान ट्रैकिंग के लिए भी प्रसिद्ध है।राजधानी शिमला से 240 किलोमीटर दूर व्यास नदी के तट पर स्थित है। मनाली के साथ लगा हुआ जिला कुल्लू भी हिमाचल प्रदेश में बसा एक ख़ूबसूरत पर्यटन स्‍थल है।वैसे मनाली कुल्लू का ही एक पर्यटन स्थल है। कुल्लू की ख़ूबसूरती और हरियाली बरसों से पर्यटकों को अपनी ओर खींचती आई है। कुल्लू विज नदी के किनारे बसा हुआ है, यह स्‍थान अपने यहाँ मनाए जाने वाले रंगबिरंगे दशहरा के लिए प्रसिद्ध है। इस पर्यटन–स्थल को देखकर ऐसा लगता है कि ईश्वर ने इसे प्राकृतिक सौंदर्य मुक्त हस्त से दिया है। अपने कर्णप्रिय स्वर से घाटियों में संगीत घोलते झरनों, छोटी–मोटी वादियों, हरे–भरे मैदानों, चरागाहां, सेब के बागों आदि के कारण कुल्लू का आकर्षण कई गुना बढ़ जाता है।जब भी सैलानी आते हैं तो कुल्लू मनाली के नाम से ही आते हैं। 

दर्शनीय स्थल

'गुरु नानक देवजी गुरुद्वारा' मणिकरण का प्रमुख आकर्षक स्थल है। यह धारणा है कि सिक्ख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव अपने 5 चेलों के साथ इस स्थान पर आये थे। यहाँ गुरुद्वारे में बहता गर्म पानी लोगों के लिये एक मुख्‍य आकर्षण है। इसके आलावा यात्री 'शिव मंदिर' के भी दर्शन कर सकते हैं। इस मंदिर की यह विशेषता है कि वर्ष 1905 में आये तीव्र भूकंप से यह थोड़ा-सा झुक गया, लेकिन धराशायी नहीं हुआ। उस समय आने वाले भूकंप की रिक्‍टेयर स्‍केल पर तीव्रता आठ थी। यहाँ का 'राम मंदिर' भी प्रसिद्ध है। मणिकरण के अन्य दार्शनिक स्थल हैं- हरिंदर पहाड़ी पार्वती नदी शोजा मलन और किर्गंगा.

यातायात और परिवहन

यातायात और परिवहन वायुमार्ग मनाली से 50 किलोमीटर की दूरी पर भुंटार में नज़दीकी हवाई अड्डा है। मनाली पहुँचने के लिए यहाँ से बस या टैक्सी की सेवाएँ ली सकती हैं। मनाली, हिमाचल प्रदेश रेलमार्ग जोगिन्दर नगर नैरो गैज रेलवे स्टेशन मनाली का नज़दीकी रेलवे स्टेशन है जो मनाली से 135 किलोमीटर की दूरी पर है। मनाली से 310 किलोमीटर दूर चंडीगढ़ नज़दीकी ब्रॉड गेज रेलवे स्टेशन है। सड़क मार्ग मनाली हिमाचल और आसपास के शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। राज्य परिवहन निगम की बसें अनेक शहरों से मनाली जाती हैं।

कब जायें
मणिकरण के कई स्थान ट्रैकिंग के लिए भी प्रसिद्ध हैं। इसे देखने का सबसे अच्छा समय अप्रैल और जून के बीच का है। कुल्लू आप मई से अक्टूबर बीच जा सकते हैं

प्रसिद्धि
कुल्लू अपने दशहरे के त्योहार के लिए प्रसिद्ध है।

कैसे पहुँचें
हवाई जहाज, रेल, बस, टैक्सी नज़दीकी भुंटार हवाई अड्डा नज़दीकी रेलवे स्टेशन कालका, चंडीगढ़ और पठानकोट कुल्लू बस अड्डा क्या देखेंघाटियों में संगीत घोलते झरनों, छोटी–मोटी वादियों, हरे–भरे मैदानों, सेब के बाग आदि।

कहाँ ठहरें
होटल, अतिथि-ग्रह, धर्मशाला क्या ख़रीदें शॉल, टोपी, हस्तशिल्प वस्तुएँ।

प्रस्तुति एवं लेखक : अशोक कुमार निर्भय
छाया : एन आर यादव,सुजान सिंह

Tour travel to Kullu Manali

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: