Search & get (home delivered) HOT products @ Heavy discounts

Tuesday, June 6, 2017

हर बच्चा बन सकता है जीनियस का परिणाम जारी, 2400 प्रतिभाओं को किया जाएगा सम्मानित


हर बच्चा बन सकता है जीनियस का परिणाम जारी, 2400 प्रतिभाओं को किया  सम्मानित
ग्रामीण प्रतिभा विकास समिति के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने पत्रकार वार्ता कर दी जानकारी
16 विद्यार्थियों ने जीते लैपटाप, 224 ने टैब, साईकिल, पंखा

सोनीपत। ग्रामीण प्रतिभा विकास समिति खेडी दमकन एवं साहिल विकलांग सहायतार्थ समिति नई दिल्ली द्वारा आयोजित 11वीं हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता का परिणाम सोमवार को जारी कर दिया गया। पांच जिलों में आयोजित की गई इस प्रतियोगिता में पांचवीं से बारहवीं कक्षा तक सर्वश्रेष्ठ रहे 16 विद्यार्थियों को लैपटाप देकर सम्मानित किया जाएगा, जबकि विभिन्न पायदान पर रहे विद्यार्थियों में 2400 पुरस्कार वितरित किए जाएंगे।

सोमवार सुबह एटलस रोड स्थित सागर रेस्टारेंट परिसर में पत्रकारों से रूबरू होते हुए प्रतियोगिता के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को प्रतिस्पर्धाओं के अनुरूप तैयार करने तथा उनके अंदर आत्मविश्वास जगाने में बीते एक दशक से आयोजित की जा रही हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता युवा विद्यार्थियों के भविष्य का आधार बनती जा रही है। शिक्षा में मिलने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रत्येक विद्यार्थी को तैयार करने की दिशा में बढाए गए इस कदम की कामयाबी युवाओं के अंदर आत्मविश्वास आने से हो रही है। देशवाल ने कहा कि सोनीपत, पानीपत, जींद, रोहतक और करनाल जिले के 85 हजार विद्यार्थियों ने पहले चरण की परीक्षा दी थी, जबकि दूसरे चरण की परीक्षा में 11 हजार 200 विद्यार्थियों ने शिरकत की थी। उन्होंने बताया कि 582 सरकारी स्कूलों तथा 637 गैर सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों ने बेहतर प्रदर्शन किया। कम्प्यूट्रीकृत तरीके से आवेदन प्रक्रिया तथा पारदर्शी पेपरों के मूल्यांकन के बाद परिणाम जारी किया गया है, जिसमें 2400 विद्यार्थियों ने इनाम हासिल किए हैं। उन्होंने कहा कि संस्था विद्यार्थियों को उनके स्कूल तक पहुंच कर पुरस्कृत करेगी, ताकि अन्य प्रतिभागियों को प्रेरणा मिल सके व उनका हौंसला बढ सके। इस मौके पर मास्टर राजमल देशवाल, नवीन सरोहा, सतपाल अहलावत आदि उपस्थित थे।

लैपटाप विजेताओं में सोनीपत, खरखौदा का रहा वर्चस्व

हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने बताया कि सोनीपत, पानीपत, जींद, करनाल और रोहतक जिले के 15 खंडों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों में सोनीपत व खरखौदा खंड के विद्यार्थियों का वर्चस्व रहा है। उन्होंने बताया कि सरकारी स्कूलों की श्रेणी में पांचवीं कक्षा में इंटल कलां जींद के जसबीर सिंह, छठी कक्षा में कैलाना गन्नौर के प्रिंस, सातवीं कक्षा में फिरोजपुर बांगड खरखौदा के सोनू, आठवीं कक्षा में कैहल्पा कथूरा के धवन तोमर, नौंवी कक्षा में पिल्लुखेडा शहर के सुखचैन, दसवीं कक्षा में मटिंडू खरखौदा के दीपांशु, 11वीं कक्षा में बरोदा मुंडलाना के नीरज मोर तथा बारहवीं कक्षा में कथूरा के मोहित ने लैपटाप जीता है। वहीं गैर सरकारी स्कूलों की श्रेणी में पांचवीं कक्षा में भदाना सोनीपत ग्रामीण के तनिश, छठी कक्षा में रिंढाना कथूरा के मोहित, सातवीं कक्षा में पटेल नगर सोनीपत की संतुष्टि, आठवीं कक्षा में खरखौदा के अक्षय कुमार, नौंवी कक्षा में गन्नौर की तान्या, दसवीं कक्षा में सोनीपत के यश, 11वीं कक्षा में जागसी मुंडलाना की मेघा व बारहवीं कक्षा में मोहाना सोनीपत ग्रामीण के अजय कुमार ने लैपटाप जीतने में कामयाब हासिल की है।

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: