Search latest news, events, activities, business...

Tuesday, January 31, 2017

Amulya Patnaik is new CP of Delhi


(Report:S.S.Dogra & Photo:Honey Sehgal) 

New Delhi: 31st January,2017. Mr. Amulya Patnaik, IPS (1985 Batch) took charge as 21st Commissioner of Police, Delhi. At 11.15 AM, outgoing Commissioner Sh. Alok Kumar Verma was given a spectacular ceremonial Guard of Honour at New Police Lines, Kingsway Camp Grounds.

In his speech, Sh. Verma shared that the city has seen better law & order scenario and a drop in overall heinous crime during 2016. He commended all the officers, staff and field formations of Delhi Police for achieving the same. He further announced that Hon’ble Lieutenant Governor, Delhi has cleared the proposal for at least three promotions for the personnel who join the force in the ranks of Constables and Head Constable, and at least two promotions for those joining at Sub Inspector level. He also congratulated Sh. Patnaik and wished the force to keep up with their work with same vigour and efficiency.

At around 5.00 PM, Sh. Amulya Patnaik took charge from Sh. Verma in a formal Handing/Taking Over ceremony, after which Sh. Verma was given a ceremonial farewell with best wishes for his new assignment as Chief of prestigious federal investigating agency CBI, which is his 24th posting in his 36 year long career. He has the distinction of being the Police Chief of 4 States/UTs i.e. Delhi, Mizoram, Andaman & Nicobar Islands and Puducherry, besides holding the post of Director General, Tihar Prisons.

Sh. Patnaik was given a ceremonial welcome in PHQ, after which he interacted with the media and presented his views with priorities to make the city safe and secure for its citizens. Sh. Amulya Patnaik is a decorated officer with expertise in the multiple fields i.e. investigation, crowd control, VVIP security and cyber awareness.

Science Week celebrated at N.K.Bagrodia Pulic School, Dwarka

Science week was conducted in the premises of NK Bagrodia Public School, Dwarka from 23rd January to 27th January. A plethora of activities were conducted. for all the classes

In junior classes i.e. in class I Intra Class Poem Recitation was conducted on ‘Save water’. In class II Intra Class food Pyramid was made and in class III Intra class depict your season was conducted. The children participated whole heartedly and also enjoyed them.

In class IV Intra class poster making competition was organised. Also in class V poster making competition was conducted on communicable diseases. The children actively participated in the activities.

In the middle classes again lot of activities were conducted. Especially for class VII and class VIII Demo Experiments on ‘Magic Behind Science’ was conducted. The children not only participated but for them it was a great learning experience. The event was well appreciated by the Director of the school, Dr. S.K.Bhattacharya, the Principal Dr. Mrs. Rajee N. Kumar and the Headmistress Mrs. Satinder Kaur. The event was also witnessed by all students, teachers and Incharges. The children and the teachers supporting them were applauded for their sincere effort. It was a great motivation for the team effort.

For classes IX and X an Inter House Power Point Presentation was conducted on ‘Environment and Related Issues’ The event was judged by the Headmistress Mrs Satinder Kaur, Ms Anjali Bains and Ms Richa Goel. The event was witnessed by class X students. It was indeed a great effort by all the houses. The event was won by Vivekananda House and Valmiki House were the Runners up.

In the Senior Secondary Classes Demo Experiments for Physics, Chemistry and Biology was conducted. The children participated enthusiastically.

Overall it was a true learning experience for all the classes. The science week conducted was truly enjoyed by all the children and developed a scientific temperament among the students.

Education- Importance and Benefits

Dr. Amit Kaur Puri

Education is the key to success!!!! I strongly believe that if we want to lead a satisfying life and enjoy the fruits of world, we need to get educated for sure. Better communication skills, Goodwill in society, dream job, rational thinking are few of the many benefits of being an educated human being. Education is a must for a promising and secure future and a stable life. An educated person has more chances of getting high paying job. Education is a must for a promising and secure future. 

Secondly, chances of earning money increases after attaining certain level of education. Most people agree that money is important for survival in today’s world. The more educated you are, the better career options you have. For equality among different genders for work opportunities, education is what we require. Education is a must if we want to eradicate the existing differences between different social classes and genders. It opens a whole world of opportunities for the poor so that they may have an equal and well paying jobs. Education also plays a major role in women empowerment. Education transforms us into self dependent person. Education also makes us wiser so that we can make our own decisions. It turns our dreams into reality, to fulfill our aim in life. To focus on our goals, makes us popular and successful person. Of course there are exceptions, like sportsmen who don’t really owe their success to their education. However in most cases, our degree is what helps us to fulfill all our dreams. Educated person makes the world a safer and more peaceful place to live in. It reduces crime as it affects our understanding of the difference between right and wrong. 

An educated person is well aware of the consequences of wrong/illegal actions and he is less likely to get influenced and do something which is not legally/morally right. Also, a number of uneducated people who live a poverty stricken life owning to lack of opportunities often turn to illegal ways such as theft and robbery to solve their problems. If we are educated, we are well aware of our rights, the law and our responsibilities towards the society. Hence, education is an important factor which contributes in social harmony and peace. Academic degree is considered as a proof of knowledge. Qualified person gets more chances of being heard and taken seriously. Generally, an uneducated man will find it harder to express his views and opinions owning to lack of confidence. Even if he does so, people may not take him seriously. Education gives us confidence to express our views and opinions in concrete form. Schooling followed by college, get a job, settle down etc. 

In fact I Dr. Amit Kaur Puri strongly believe that if we want to lead a satisfying life and enjoy the fruits of world, we need to get educated for sure. Better communication skills, Goodwill in society, dream job, rational thinking are few of the many benefits of being an educated. Education is a must for a promising and secure future and a stable life. An educated person has more chances of getting high paying job. Education is a must for a promising and secure future. Secondly, chances of earning money increases after attaining certain level of education. Most people agree that money is important for survival in today’s world. The more educated you are, the better career options you have! 

For equal opportunities, education is what we require. Education is a must if we want to eradicate the existing differences between different social classes and genders. It opens a whole world of opportunities for the poor so that they may have an equal and well paying jobs. Education also plays a major role in women empowerment. Education transforms us into self dependent person. Education also makes us wiser so that we can make our own decisions. It turns our dreams into reality, to fulfill our aim in life. To focus on our goals, makes us popular and successful person. Of course there are exceptions, like sportsmen who don’t really owe their success to their education. However in most cases, our degree is what helps us to fulfill all our dreams. Educated person makes the world a safer and more peaceful place to live in. It reduces crime as it affects our understanding of the difference between right and wrong. An educated person is well aware of the consequences of wrong/illegal actions and he is less likely to get influenced and do something which is not legally/morally right. 

Also, a number of uneducated people who live a poverty stricken life owning to lack of opportunities often turn to illegal ways such as theft and robbery to solve their problems. If we are educated, we are well aware of our rights, the law and our responsibilities towards the society. Hence, education is an important factor which contributes in social harmony and peace. Academic degree is considered as a proof of knowledge. Qualified person gets more chances of being heard and taken seriously. Generally, an uneducated man will find it harder to express his views and opinions owning to lack of confidence. Even if he does so, people may not take him seriously. Education gives us the confidence to express our views and opinions in concrete form. Education helps us to become an active member of the society and participate in the ongoing changes and development. It is vital for the economic prosperity of a nation. It prevents us from being exploited and fooled. We live in a country where we enjoy a number of rights and freedom. It is easier to take advantage of illiterate people.

DISCOVER A PROFESSION IN ART


RAJIV KAKRIA
Advertising Professional, 
College of Art Alumni & Founder Trustee
‘Flavour of Art Foundation’ (NGO)

Art, the most basic and earliest form of expression, communication and recording history, was once accessible to all ... is today limited to the possession and understanding of only a few.

Our society has moved far away from the sense of self ..... the financial and digital world having taken over ..... leaving very little room for creativity, making a fast buck the only reward. The emphasis on evolution, history, study of human life and emotion seems to have been eclipsed in today’s Digital Chaos.

Art is treated more a Co-curricular Activity by most, little realising that it can be as lucrative and fulfilling a profession as Engineering, Medicine or Finance. This mindset and lack of professional counselling or aptitude profiling has diverted many brilliant minds and talent to other fields.

Art, just like Engineering, Medicine, Finance etc. too has Specialisations and Branches, but not fully understood or explained. Lack of professional counselling pushes promising students into Science, Humanities or Finance leading to disinterest and stress in life.

Most Counselling Programmes guide and inform students about Institutes offering the courses in Art and the Entrance procedures etc. A common misconception is that a student must be good in functional skills like Drawing, Sketching, Painting etc to embark on a career in Art. YES, Functional Skills are important but Training the Mind is crucial to be a successful Art Professional. It is important to Learn to Differentiate between SKILL and KNOWLEDGE ….. Craft and Art.

Art is 80% in the mind, Functional Skills alone do not prepare a person for the rough and tumble of the highly competitive environment. Career Decisions should not be Influenced by external factors, instead should be Realised Intrinsically. Students’ Physical, Mental, Social, Economic and Interest parameters must be understood to determine a Realistic Career Path in Art.

Art can also be pursued by those in social sciences like History, Philosophy, English or even Botany, Mathematics or Economics. Functional skills can be acquired, social science has already trained the mind to Critically Question, Research, Analyse and Rationalize ...... which form the Key Elements required to become an Artist. Not many people are aware that Art Industry has over 50% top professionals, who have never been to an Art Institute.

Happy Birthday- Ashok Sharma


Monday, January 30, 2017

दिव्यांगों-आर्थिक रूप से कमजोर जोड़ों का सामूहिक विवाह नारायण सेवा संस्थान ने करवाया

-प्रेमबाबू शर्मा
धमार्थ संस्थान-नारायण सेवा संस्थान ने 51 दिव्यांग और निर्धन जोड़ों को पंजाबी बाग स्थित जन्माष्टमी पार्क में आयोजित एक समारोह में विवाह सूत्र में बंधा। समारोह में तिहाड़ जेल के उप अधीक्षक विनय ठाकुर ने शिरकत की। 

इस मौके पर नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल, संस्थान की निदेशक वंदना अग्रवाल और नारायण सेवा संस्थान के संस्थापक कैलाश मानव भी मौजूद थे। विवाह स्थल पर 51 वेदियां बनाई गई थीं और वृंदावन से पधारे प्रख्यात पुजारियों ने विवाह की रशम पूरी करवाई। दूल्हे और दुल्हनों के परिवारजनों का गर्मजोशी से स्वागत किया गया और शादी की रश्में धूमधाम और उल्लास के साथ शुरू हुईं। विवाहित जोड़ों को घरेलू सामान कन्यादान के अवसर पर वितरित किया गया। नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष श्री प्रशांत अग्रवाल ने कहा, ‘‘सामूहिक विवाह समारोह हमारी तरफ से दिव्यांगों और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को समाज का पूर्ण रूप से सक्रिय सदस्य बनाने के लिए किया गया प्रयास है। ऐसे युवकों और युवतियों जिन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वे वैवाहिक जीवन बिताएंगे उनके लिए ‘नारायण सेवा संस्थान‘ के प्रयासों से यह सपनों का हकीकत में बदलने जैसा है।

समस्याओं का समाधान नहीं, स्कूल खटखटाएंगे अदालत का दरवाजा

दिल्ली के अनएडेड बजट प्राइवेट स्कूलों ने दिल्ली सरकार पर बजट प्राइवेट स्कूलों की समस्याओं के समाधान के प्रति गंभीर न होने का आरोप लगाया है। स्कूलों का कहना है कि सरकार ने उनके साथ वादा खिलाफी की है और समस्याओं के सामाधान की बजाए उन्हें सिर्फ आश्वासन ही मिले हैं। नाराज स्कूलों ने समस्याओं के जल्द समाधान न होने की दशा में धरना प्रदर्शन करने और अदालत का दरवाजा खटखटाने की बात कही है।

सोमवार को प्रेस क्लब में दिल्ली के अनएडेड स्कूलों ने बजट स्कूलों की अखिल भारतीय संस्था नेशनल इंडिपेंडेंट स्कूल्स अलायंस (निसा) व कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ पब्लिक स्कूल्स (सीसीपीएस) के संयुक्त तत्वावधान में एक संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ पब्लिक स्कूल्स के चेयरमैन आर. के. शर्मा ने बताया कि गतवर्ष सितंबर महीने में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट स्कूलों को राहत देने के लिए सार्वजनिक तौर पर घोषणा की थी कि स्कूलों को मान्यता प्रदान करने के लिए जमीन की बजाए कमरों की संख्या को आधार बनाया जाएगा। शर्मा ने बताया कि उस घोषणा के बाद से इस संदर्भ में कोई प्रगति अबतक नहीं हुई है और हमारे बार बार प्रयास के बावजूद कोई पहल नहीं की जा रही है।

निसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा ने कहा कि दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार के काम करने के सबसे अलग तौर तरीकों से हमें बड़ी आस बंधी थी, लेकिन अब यह आस टूटती दिख रही है। कुलभूषण ने कहा कि यदि दिल्ली सरकार की ओर से शीघ्र हमारी समस्याओं का समाधान नहीं किया जाता है तो मजबूरी में हमें धरने प्रदर्शन का सहारा लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों के पास कोर्ट जाने का विकल्प खुला है।

दिल्ली इंडिपेंडेंट स्कूल्स अलायंस (दिसा) के अध्यक्ष राजेश मल्होत्रा ने बताया कि बजट प्राइवेट स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता से कहीं अच्छी है और यह बात तमाम सरकारी और

गैरसरकारी अध्ययनों में साबित हो चुकी है। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों में प्रतिछात्र खर्च सरकारी स्कूलों के प्रतिछात्र खर्च से बहुत कम है। मल्होत्रा ने बताया कि बजट स्कूलों के साथ होने वाला भेदभाव तभी खत्म हो सकता है जब उनके लिए अलग बोर्ड की व्यवस्था हो।

निसा के पॉलिसी एडवाइजर अमित चंद्र ने कहा कि यदि सरकार सिर्फ तीन कदम उठा लेती है तो दिल्ली में शिक्षा के क्षेत्र की तमाम समस्याओं का समाधान निकल सकता है। वे तीन कदम; शिक्षा का फंड स्कूलों की बजाए छात्रों को प्रदान करना, स्कूलों को मान्यता प्रदान करने के लिए छात्रों के सीखने की क्षमता को भी आधार मानना और सरकार को अपनी भूमिका को रेग्युलेटर की बजाए फेसिलिटेटर के तौर पर विकसित करना।

सीसीपीएस के चंद्रकांत सिंह ने कहा कि दिल्ली में छात्रों की संख्या की तुलना में स्कूलों की भारी कमी है। यह कमी स्कूलों को मान्यता प्रदान करने के लिए आवश्यक जमीन की अनिवार्यता के कारण है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जमीन की कमी के कारण स्कूलों को कमरों के आधार पर मान्यता प्रदान करने से बड़ी संख्या में गैरमान्यता प्राप्त स्कूलों को मान्यता मिल जाएगी। इससे सभी को शिक्षा प्रदान करने के सरकार के उद्देश्य को प्राप्त करने में भी आसानी होगी।

शिक्षा प्रणाली पर आधारित है शो‘मेरी दुर्गा’: प्रदीप कुमार


-प्रेमबाबू शर्मा

स्टार प्लस पर रोजना शाम 6.30 बजे प्रसारित शो ‘मेरी दुर्गा’ धारावाहिक में पिता और बेटी का एक अनूठा रिश्ता दर्शाया गया है जो की दर्शकों को बहुत लुभा रहा है। इस धारावाहिक के निर्माता हैं पेपरबैक फिल्म्स जो बनी है निर्देशक रविंद्र गौतम और निर्माता प्रदीप कुमार के साझेदारी से। 

भारतीय जलसेना की परीक्षा देने मुम्बई आये प्रदीप ने कभी यह न सोचा था कि वह एक निर्माता बनेंगे। अपनी मेहनत और लगन से बहुत ही कम समय में प्रदीप कुमार ने निर्माण कार्य में अपनी एक पहचान बना ली। पेपरबैक फिल्म्स की शरुवात से पहले वह शकुंतलम टेलेफिम्स में प्रोडक्शन हेड के पद पर कार्यरस्थ थे जहाँ उन्होंने रेत, बनूँ में तेरी दुल्हन,ना आना इस देस लाडो, रक्षक,शास्त्री सिस्टर्स, और हेल्लो प्रतिभा जैसे धारावाहिको का निर्माण किया। शो के बारे में प्रदीप ने बताया कि ‘इस शो के द्वारा भारत की शिक्षा प्रणाली पर प्रकाश डाल रहें हैं और माता-पिता को यह संदेश दे रहें हैं कि वह अपने बच्चों की स्वाभाविक कुशलता को पहचान कर उसे सराहें।’

फिल्म ‘प्रहार में निर्माता से बने अभिनेता दिनेश केसवानी


-प्रेमबाबू शर्मा
अपनी पहली भोजपुरी फिल्म ‘घात’ बतौर निर्माता रहे दिनेश केसवानी अपनी अगली फिल्म ‘प्रहार’ से भोजपुरी फिल्म जगत में अभिनय के क्षेत्र में भी धमाकेदार आगाज करने जा रहे हैं । जहाँ एक
​​ओर वे फिल्म ‘घात’ में अभिनेत्री और डांस क्वीन सीमा सिंह के साथ कैमियो करते नजर आएंगे, वहीं दूसरी ओर फिल्म ‘प्रहार’ में वे अभिनेत्री रजनी मेहता के साथ जोड़ी बनाकर मुख्य किरदार के रूप में रुपहले परदे पर अपनी प्रस्तुती देंगे। अभिनेत्री रजनी मेहता फिल्म ‘घात’ में भी मैन लीड में है । फिल्म ‘प्रहार’ का मुर्हत 27 फरवरी को मुम्बई में होगा।

दिनेश केसवानी की पहचान अभी तक अलबम गायक के रूप में रही है,लेकिन अब फिल्म ‘प्रहार से बतौर अभिनेता डेब्यू कर रहे है, और इस मिथक को तोड़ते हुए एक निर्माता से अभिनेता बनने की राह चुनी है ।
फिल्म ‘प्रहार’ में दिनेश केसवानी एक दमदार शख्सियत का किरदार पेश करने जा रहे हैं जो की अभिनय के मुकाम पर सबको दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर कर देगा । फिल्म ‘प्रहार’ में दिनेश केसवानी और अभिनेत्री रजनी मेहता की जोड़ी आज के नए दौर के रोमांस को पर्दे पर जीते हुए नजर आएंगे ।

मनोज तिवारी , दिनेश लाल यादव , पवन सिंह और खेंसारी लाल यादव ने अपनी किस्मत गायकी में आजमाने के बाद फिल्मों में बतौर अभिनेता किस्मत आजमाया लेकिन उनमें से कुछ सफल रहे । वही अब दिनेश का कहना है कि वे अभिनय के साथ साथ इंडस्ट्री में अपना बतौर निर्माता भी एक सही और पारदर्शी पहचान बनानी है । फिल्म ‘प्रहार’ के निर्देशक हैं आनंद डी गहतराज है

मुख्य कलाकारों में दिनेश केसवानी ,रजनी मेहता ,सत्येंद्र सिंह के साथ हैं नेहा मेहता । फिल्म के निर्माता दिनेश केसवानी ,दत्तात्रेय उदयगिरि ,विजय कुमार , लेखक दिनेश केसवानी व् संगीत घनंजय मिश्रा का है ।

हमारा वोट का अधिकार - एक फ़र्ज़ भी !

आर. डी. भारद्वाज " नूरपुरी "

जितनी मेहनत हम लोग एक रेहड़ी वाले से आलू , प्याज , टमाटर , हरी मिर्च या फिर धनियाँ इत्यादि चुनने और खरीदने में लगाते हैं , अगर हम इससे आधी मेहनत भी अपने नेता चुनने में लगाएं , चुनाव लड़ने वाले सभी नेताओं / प्रति प्रत्याशिओं के बारे में जानकारी हासिल करें , उनकी पुरानी कारगुजारियाँ की ध्यान से जाँच पड़ताल करें , उनका निरीक्षण करें , अदालतों में चल रहे उन पर मुकदमों का हिसाब किताब देखें , और यह कुच्छ करने के बाद ही विवेकशीलता से यह फैसला करें कि हमें अपना कीमती किसको वोट देना है , सबसे उत्तम कौन सा प्रत्याशी रहेगा , यह सब कुच्छ तह करने के बाद ही अपनी बेशकीमती वोट डालना सिनिश्चित करें , और लाज़मी तौर पे कम से काम ९० प्रतिशत वोट डालें , तो हमारे देश में मौजूदा प्रचलित लोकतंत्र प्रणाली में बहुत हद तक सुधार आ सकता है ! आम नागरिकों को मिलने वाली सुख / सहूलतें और सुविधाएं काफी हद तक बेहतर हो सकती हैं और हमारे गाँवों - २ , शहर - शहर में प्रस्थितियाँ बदल / सुधर सकती हैं !

मुझे यह बात इस लिए लिखनी पड़ रही है कि मात्र ढाई वर्ष पहले ही जब २०१४ में आम चुनाव हो रहे थे , उस दिन मैंने वोट डालने जाने के लिए अपने आस पास के 8 / 10 लोगों को कहा कि चलो वोट डालने चलते हैं , लेकिन लगभग सब ने ही जवाब दिया - "छोडो यार ! क्या करना है / इतनी गर्मी है / वहाँ जाकर हमें क्या मिलेगा / हमारा कौन सा कोई रिश्तेदार चुनाव रहा है ? वगैराह - २" ! सबने लगभग ऐसी ही प्रतिकिर्या देकर वोट डालने से पीछा छुड़वा लिया ! हालाँकि वोटिंग सेंटर हमारी कॉलोनी से केवल एक किलोमीटर से भी कम दूरी पर था ! इसका नतीजा यह हुआ कि हमारे चुनाव क्षेत्र में केवल ५३.४ % ही वोटिंग हुई , इसके बाद नागरिकों को मिलने वाली सुख सुविधायों / सहूलतों - जैसे कि पीने का साफ़ सुथरा पानी , बिजली , टूटी फूटी सड़कों की मुरम्मत , स्ट्रीट लाइट्स , पार्कों में घास लगाना , समय २ पर पानी देना, बच्चों के लिए झूले , पेड़ पौदे , कम्युनिटी सेन्टर , डिस्पेंसरी , पाठछालाएँ , नागरिकों की सुरक्षा (खास तौर पर महलायों के लिए ) , मार्किट इतयादि , और सड़कों की सफ़ाई और गलिओं से कूड़ा कचरा उठाना , वगैराह - न जाने कितने काम होते हैं , सभी कामों के न होने पर बाकी लोगों को , जोकि अपने वोट डालने के अधिकार का उपयोग करने के लिए एक दो किलोमीटर चलने का भी कष्ट नहीं उठा पाते , उन लोगों को बाद में शिकायतें करने या फिर चुने गए नेताओं गाली देने का भी कोई अधिकार नहीं रह जाता , क्योंकि जैसे वोटर अपने वोट डालने की जुम्मेवारी से कतराते रह गए हैं , इसके प्रति लापरवाही से काम लेते हैं , बिलकुल इसी प्रकार चुनाव जीतने के बाद नेता लोग भी अपने फ़र्ज़ के प्रति उदासीन या फिर असंवेंदनशील हो जाते हैं , लोगों की जरूरतों की उन्हें भी कोई चिन्ता या सचेतता और संवेदना नहीं रहती है ! इस मामले में दोनों में कोई खास अन्तर नहीं है ! न जाने लोग क्यों और कैसे भूल जाते हैं कि वोट डालना यहाँ एक अधिकार है , वहीं पर यह हमारी एक लोकतान्त्रिक जिम्मेदारी भी बनती है, हमारा एक बेहद जरुरी फर्ज़ भी है ! 

कृपया याद रखें - एक बहुत बड़े राजनैतिक चिन्तक व विश्लेशिक ( टॉमस जेफ़रसन ) ने बहुत वर्ष पहले लोकतंत्र की सफलता के बारे में एक बहुत ही सटीक बात कही थी - "हमारी निरन्तर सजगता ही लोकतंतर की सफलता की गारन्टी है !" यहाँ वोट डालने में हमने अपने फ़र्ज़ के प्रति थोड़ी सी भी लापरवाही बरती , वहीं पर नेताओं ने पूरे देश और समाज के प्रति अपनी जिम्मेवारियाँ भी भूल जानी हैं और देश को लूटना शुरू कर देना कर देना है । बाद में वहाँ की जनता चाहे कितना भी रोती कुरलाती या शोर मचाती रहे ! क्योंकि हमारे देश में चुनाव हो जाने बाद अगर ऐसा पता चले कि जिस नेता को लोगों इतने भारी बहुमत से जिताया है , और वह नेता बाद जनता की कोई खबरसार तो लेता ही नहीं , तो ऐसे नेता को वापिस बुलाने का अधिकार तो देश की जनता के पास है ही नहीं ! दूसरी बात , सोई हुई जनता को लूटना और खुले पड़े ख़ज़ाने में सेँध लगाना तो बहुत ही सरल काम होता है ! अब यह फैसला भी आपने ही करना है कि निरन्तर सजग और सचेत रह कर अपने अधिकारों की रक्षा करनी है और अपनी बनने वाली सुख / सुविधाएँ / सहूलतें प्राप्त करनी हैं या फिर पल दो पल या फिर हफ्ते दस दिन के सुख की ख़ातिर (जैसे कि कुच्छ लोग चुनाव के दिनों में दारु की एक दो बोतल लेकर / एक आधी साड़ी या फिर कम्बल लेकर किसी गलत नेता को वोट डाल देते हैं , और बाद में पाँच वर्ष तक अपनी किस्मत को / अपने समाज को और अपने देश को भी कोसते रहते हैं ) ! लोगों को यह बात नहीं भूलनी चाहिए कि वोट लेने की खातिर जो नेता या पार्टी आपको ऐसे प्रलोभन दे रहे हैं , दरअसल वह आपको रिश्वत देकर यह कह रहे है हैं कि आप उनकी पिछली ग़लत किस्म की कारगुजारियों को भूल जाएँ । अब आप ही बताएँ , क्या रिश्वत लेना और देना सही काम है ? यह रिश्वत देने वाले ही जीतने के बाद बड़े २ घोटाले करते हैं और जनता अपने को मिलने वाली कल्याणकारी योजनाओं से वन्चित रह जाते हैं । क्या ऐसे होगा देश और समाज का विकास ? जागो इंडिया , जागो ! अपना फ़र्ज़ पहचानो और अच्छी तरह सोच विचार करके ही, सजग रहते हुए अपने वोट के अधिकार का प्रयोग करो , ना कि आलसी बनके अपनी ही धुन में पड़े रहो ! आपका और आपके बच्चों का भविष्य काफ़ी हद तक आपके अपने हाथ में ही है ! जिस दिन आप यह बात समझ जाओगे , उस दिन से आपकी ज़िन्दगी में सुधार आना शुरू जायेगा ! और फ़िर , हमारे यहाँ तो वोट डालने के लिए पूरी छुट्टी भी मिलती है ? तो वोट डालने से क्यों कतराते हो ? 

एक और खास बात बतानी भी यहाँ पर अत्यन्त आवश्यक हो जाती है - वोह यह कि एक टीवी चैनल की रिपोर्ट की अनुसार कुच्छ राज्यों का भारतीय रिज़र्व बैंक के प्रति एक दो लाख करोड़ से भी ज़्यादा कर्जा है । माना कि सरकार को / हमारे नेताओं को प्रदेश की जनता के कल्याण के लिए अनेक सरकारी योजनाएँ बनानी होती हैं और उन्हें लागू करने लिए बड़ी २ धन राशि की आवश्यकता पड़ती रहती है , जिसके लिए कभी २ आरबीआई से करोडों रूपये का कर्जा भी लेना पड़ जाता है । लेकिन इतने लाखों रूपये के कर्जे के बावजूद भी उस प्रदेश की वह सरकारी योजनाएँ पूरी क्यों नहीं होतीं , प्रदेश की जनता के लिए कोई ढंग के कल्याणकारी कामकाज ना हुए हों , प्रदेश के पढ़े लिखे नौजवान भी नौकरियों के लिए मारे २ फ़िरते हों , महँगाई से जनता खासी परेशान रहती हो , तो मामला कुच्छ जरुरत से ज़्यादा ही गम्भीर रूप ले लेता है । बड़े २ कर्जों की वह धन राशि आख़िर जाती कहाँ हैं ? इसका मतलब यह निकलता है कि उस प्रदेश की सरकार चलाने वाले नेता लोग या तो अपने काम में सक्षम नहीं है और या फ़िर उनके काम करने के तरीके ग़लत हैं , उनकी नियत में कोई गहरी खोट है । हर तरफ़ से जनता का मंदा हाल , तो फिर यह नेता कैसे हो जाते हैं मालामाल ? ज़रा ठन्डे दिमाग़ से और गंभीरता से सोचने और समझने की जरुरत है । अपने ही प्रदेश की जनता से वसूले गए अनेक प्रकार के करों पर ऐश-प्रस्ति करने वाले नेता लोग सरकारी ख़जाने से इतनी सुख सुविधाएँ कैसे भोग लेते हैं ? इनकी इतनी मोटी और असंवेदनशील सोच विचार कैसे बन जाती है ? प्रत्त्येक पार्टी के अनेकों नेताओं में पार्टी की टिकेट के लिए इतनी मारा मारी यही सत्ता प्राप्त करने और इसकी वजह से मिलने वाली सैकड़ों प्रकार की सुख सुविधाएँ भोगने के लिए ही और करोड़ों रूपये हथ्याने के लिए ही तो होड़ लगी रहती है , ना कि देश जनता की भलाई के लिए ? 

इस लिए मेरा मानना है कि ऐसे नेताओं की नीयत में खोट है और सरकारी कामकाज के सिलसिले में थोड़ा परिवर्तन करके एक ऐसा प्रावधान भी बनाना चाहिए कि अगर किसी छोटे राज्य / प्रदेश पर आरबीआई का बीस-पचीस हजार करोड़ और बड़े प्रदेश का तीस-पैंतीस हज़ार करोड़ रूपये से अगर कर्ज ज़्यादा है तो उस प्रदेश के सभी मंत्रियों और एमएलए और काउंसिलरों को उपलब्ध होने वाली तनखाह , उनको दिए जाने वाले सभी सुख सहूलतें और भतों में तब तक ५० % की कटौती जारी रहनी चाहिए , जब तक उस प्रदेश का कर्जा ऊपर दी गई सीमा के भीतर ना आ जाये । प्रदेश को इतने बड़े २ कर्जे में डुबोकर जाने वाले मंत्रियों पर क़ानूनी कार्यवाही भी होनी चाहिए । दूसरी बात - अभी पाँच प्रदेशों में अगले महीने चुनाव होने वाले हैं , और अगर वहाँ की किसी सरकार पर इस सीमा से ज़्यादा कर्जा है , जो वहाँ की जनता को चाहिए कि वहाँ ऐसे नेताओं को अपने वोट के अधिकार से बदल डालें , क्योंकि ऐसे नेता सरकार चलाने में हरगिज सक्षम नहीं हैं , बल्कि यह लोग केवल और केवल वहाँ की जनता के ऊपर एक बोझ से ज़्यादा कुच्छ भी नहीं है । अभी भी समय है , जागो ! इंडिया , जागो । अगर समय रहते उन प्रदेशों के वोटर नहीं सम्भले और उन्होंने अच्छी तरह सोच विचार करके अपना कीमती वोट नहीं डाला , तो अगले पाँच वर्ष के लिए आपको फिर से पश्ताना पड़ जायेगा और फिर सिवाए पश्तावे के आपको कुच्छ भी हासिल नहीं होने वाला ! और एक और तीसरी बात , जो नेता लोग धर्म के नाम पर , जात बरादरी के नाम पर , मन्दिर - मस्जिद के नाम पर, गौअ रक्षा के नाम पर या फिर दारू की बोतलें बाँट कर , महिलायों को सूट - साड़ियाँ या फिर प्रेशर कुकर देकर वोट के लिए जोर देते हैं , ऐसे नेताओं से आप लोग जितना दूर रहोगे उतना ही आपके लिए और आपके प्रदेश के चौतरफ़ा विकास , सुख समृद्धि के लिए अच्छा होगा । इन सब वस्तुओं का लालच देकर वोट मांगने वालों से कहो कि हमें भीख़ नहीं चाहिए , बल्कि नौकरियाँ ही चाहिए , नौकरी मिल जाये तो यह सब सुख देने वाले भौतिक पदार्थ हम खुद ही ख़रीद लेंगे । एक और बात - ना जाने कितने ऐसे नेता लोग चुनाव लड़ रहे हैं जिन पर क़त्ल , फिरौती माँगने , बलात्कार , ठगियों / घोटाले और तरह २ की हिंसात्मिक गतिविधियोँ में सम्लित होने और करवाने के मुकदमें अदालतों में चल रहे हैं ? क्या ऐसे लोगों का राजनीति में आना और सत्ता सुख भोगना हमारे समाज के लिए अच्छ साबित हो सकता है ? बिलकुल भी नहीं ! बाकी फ़ैसला आपके अपने हाथ में है , कि आप अपना विकास चाहते हो या फिर कुच्छ और ? जो लोग समय रहते अपनी सोच और क्रिया नहीं बदलेंगे , उनको बाद में बहुत पछताना पड़ेगा !!!

शिक्षा निदेशालय क्षेत्र 10, जिला उत्तर पश्चिम ए, जोनल स्पोर्टस एंड एक्टीविटीज पुरस्कार वितरण समारोह में सर्वोदय बाल विधालय प्रहलादपुर बांगर ने जीती ओवर आल चैम्पियनशिप

शिक्षा निदेशालय जिला उत्तर.पश्चिम ए के जोन दस के स्पोर्टस एंड कल्चरल एक्टीविटीज का पुरस्कार वितरण समारोह आज राजकीय बाल सी. सै.स्कूल, बादली में संपन्न हुआ। मुख्य अतिथि उप शिक्षा निदेशक, उत्तर पश्चिम जिला श्री अनिल कुमार ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह.का उद्घघाटन किया। 

इस अवसर.पर डीडीई जोन दस श्री आर.सी यादव और डीईओ डा. वी.पी शास्त्री, श्री रमेश सहरावत, राजकीय विधालय शिक्षक संघ के जिला सचिव श्री विक्रम सिंह देसवाल, शिक्षाविद् दयानंद वत्स फिजिकल सुपरवाजर सुशीला केलकर, प्रधानाचार्य श्री वी के शर्मा, श्री राकेश राही, श्रीमती सूरज कौर सहित विभिन्न स्कूलों के प्रमुख विशिष्ट अतिथि के रुप में.उपस्थित थे। समारोह के समन्वयक बादली स्कूल के प्रधानाचार्य श्री सुरेन्द्र कुमार अहलावत और सचिव श्री धर्मबीर दहिया के अनुसार जोन दस के पन्द्रह हजार छात्र छात्राओं ने इन प्रतियोगिताओं में भाग लिया। 67स्कूलों को ट्राफियां दी गयीं। छात्र वर्ग की ओवर आल चैम्पियनशिप सर्वोदय बाल विधालय प्रहलादपुर बांगर और छात्रा वर्ग की सर्वोदय कन्या विधलय.बवाना ने जीतीं। कुश्ती एसबीवी ब़ाकनेर, जूडो राजकीय बाल सी सै स्कूल, शाहबाद डेरी, एथेलेटिक्स में दोनों वर्गों की चैम्पियनशिप जे.एम.वी स्कूल बूढपुर ने प्राप्त की। सर्वश्रेष्ठ ऐथलीट का पुरस्कार प्रशांत मान और अंकिता चहल दोनो जे.एम.वी बूढपुर ने जीता। कल्चरल एक्टीविटीज में दोनों वर्गों में सुकृति वर्लड स्कूल़, खेडाखुर्द और मार्च पास्ट के दोनों वर्गोंं का पुरस्कार राजकीय सह शिक्षा सी. सै विधालय सी ब्लाक, मैट्रो विहार ने लिया। इस मौके पर जोन दस के खेल शिक्षक नवीन खुल्बे, रोहताश डबास, अशोक मान,रजनीश राणा,प्रवीन दहिया, मुकुल, सुमन, अनीता, सुनीता खत्री, गायत्री, महेन्द्री, बिजेन्द्र भी उपस्थित थे। अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्री अनिल कुमार ने क्षेत्र दस के सभी प्रधानाचार्यों, खेल शिक्षकों और विजेता छात्र छात्राओं को उनकी उपलब्धियों के लिए अपनी शुभकामनाऐं दीं।

दिगम्बर जैन मंदिर जी के निर्माण हेतु द्वारका सेक्टर १२ में प्लॉट आवंटन

डॉ ऍम सी जैन 
राष्ट्रीय अध्यक्ष
आज दिनांक २७ जनवरी २०१७, को देहली विकास प्राधिकरण ने 413 मीटर का एक प्लॉट सेक्टर १२ में द्वारका इंटरनेशनल स्कूल के सामने दिगम्बर जैन मंदिर जी के निर्माण हेतु “जैन समाज द्वारका” की कार्यकारिणी को आवंटन कर दिया ।

आइए, एक और जैन मंदिर जी के निर्माण हेतु हम सब कदम से कदम मिला कर इस कार्य को पूरा करें .तथा एक और मंदिर जी के निर्माण हेतु सहयोग प्रदान करें , हम आभारी तथा विशेष कृतज्ञ है आप सभी के जिनके अथक प्रयत्न , अटूट विश्वास ,परिश्रम , लगन, प्रेरणा और श्रद्धा के कारण द्वारका उप नगरी में एक और दिगम्बर जैन मंदिर निर्मित होने का स्वप्न पूरा हो सकेगा।


Happy Birthday- Utkarsh Upadhyay


Sunday, January 29, 2017

Sonakshi Sinha kills zombies and launches Never Seen Before Virtual Reality Immersive Gaming Experience in India for Sony's Resident Evil!

-Prembabu Sharma

Ahead of the hugely awaited Resident Evil: The Final Chapter's 3rd February release, Sony Pictures Entertainment has brought the FIRST ever immersive virtual reality gaming experience with haptic techonology in India, enabling everyone to experience Alice's biggest fight against the undead as she races to save the humanity from complete oblivion.

The experience, dubbed "The Road to Raccoon City," serves as a perfect complement to the upcoming high octane flick, featuring content from the movie, complete with voice over from Alice actress, super star Milla Jovovich. It features the renowned HAPTIC technology to simulate a zombie attack, as users wear VR glasses and a vest that provides vibration and audio feedback while they shoot at zombies projected on-screen with a gun.

Launching the phenomenal technology was our very own Bollywood daredevil Sonakshi Sinha who experienced the game live and launched it!

Glamourously dressed to kill, in black leather, bulletproof vest and guns, the dynamic actress spoke about her love for action films, video games and more at the event!

Sonakshi said she is a "gamer" and if "Resident Evil" is adapted for Indian audience, she would love to be in it and play the role of Milla Jovovich.

Resident Evil: The Final Chapter is all set to hit Indian cinemas on 3rd February, 2017.

International polio awareness Rally by DAV Public School Dwarka


Intrect Club of Rotary club Delhi Uptown, DAV public school Dwarka New Delhi organized today a Big Rally on Polio free India and World. According to Rotarian DAYANAND VATS It is a matter of great honour and pleasure that under the “Mission Keep India Polio Free” a fabulous and “GRAND POLIO AWARENESS RALLY” was organized on 28th January 2017 at Dwarka New Delhi, in Association with our Interact Club of DAV Public School, Dwarka. 

128 members from Rotary Club of Holland, Belgium, UK, Switzerland and Japan are also participated in this fabulous rally, lead by Motorbikes, Bicycles, Longmen, Tableau, Horse Carts, Rickshaws and e-Rickshaws decorated with Banners and placard and accompanied by hundreds of students and teachers of DAV Public School, Dwarka. The students, wearing attractive attires were dancing and moving on the tune of Dhol and Band, all along the 2.5 km route of the rally. 

 The rally was cheered by the public all along the route. The glitterati of our District were also enhancing the aura of the rally. DGN Subhash Jain flagged off the rally. Besides District dignitaries, our club was represented by President Rtn Dr Krishan Lal, Secretary Rtn V P Verma, PP Rtn V K Jain, Rotarian.

Dayanand Vats PP Rtn Dharampal Gupta, PP Rtn V K Bansal, PP Rtn V K Bhatia, PP Rtn J G Nanda, PP Rtn Harshwardhan Arya, Rtn Roop Chand and Rtn Sunita Mehta. Kudos to the Principal, Teachers, Staff and students of DAV Public School, Dwarka, Delhi with whose whole hearted efforts rally was a grand success.

Best wishes for booklet Education Hub 2017-18

Dwarka Parichay always stands with good things and positivity of the society that is most required in the umble - jumble of the life . I wish all my best to it in coming years to shine brighter and brighter.

Seema Kashyap
Artist : Madhubani Painting

उड़ती धूल से लोग परेशन


-प्रेमबाबू शर्मा

फिल्मीस्ताऩ से पुलबंगश़ और तीस हजारी कोर्ट आने वाले मार्ग को चैडा करने और एक फ्लाई ओवर का काम चल रहा है। लेकिन इस दौरान कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा बरती जा रही लापरवाही के कारण तमाम लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। साइट पर पानी का छिड़काव न किए जाने के कारण भारी मात्र में यहां धूल का गुबार उठ रहा है जिससे यहां से होकर गुजरने वाले लोगों को परेशानी हो रही है। इस वक्त जाड़े के मौसम में मुश्किल इसलिए भी बढ़ गई है क्योंकि कोहरे के कारण यह धूल काफी कम उंचाई पर ही टिकी रहती है जिससे स्मॉग की स्थिति उत्पन्न हो रही है।

डीसीएम मोड से लेकर आजाद मार्किट तक के मार्ग पर कारण सड़क के किनारे खोदाई की गई। दिन भर यहां मशीनें, बुलडोजर व जेसीबी चलती रहती हैं जिस कारण भारी मात्र में धूल उड़ती है। यह काफी व्यस्त मार्ग है। इस मार्ग का इस्तेमाल पुलबंगश,तीस हजारी कश्मीरी गेट,दिल्ली विश्वविधालय, पुरानी सब्जीमंडी... आदि जगहों के लोग आने-जाने के लिए करते हैं। जिस कारण इस पर यातायात का काफी दबाव रहता है। धूल के कारण दिखाई न पड़ने पर यहां हादसे का खतरा भी बना हुआ है। आसपास की कॉलोनी के लोगों ने यहां पर पानी छिड़कवाने के लिए कंस्ट्रक्शन कंपनी के अधिकारियों से अनुरोध भी किया ताकि धूल न उड़े, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई।

Saturday, January 28, 2017

वीवो ने नया स्मार्ट फोन वी 5 प्लस बाजार में उतारा

-प्रेमबाबू शर्मा

स्मार्टफोन फोन बनाने वाली कंपनी वीवो ने सेल्फी के दीवानों को ध्यान में रखकर मेगापिक्सेल डुअल फ्रंट कैमरा वाला नया स्मार्ट फोन वी 5 प्लस बाजार में उतारा है,जिसकी कीमत 27,980रूपये है। वीवो इंडिया के कार्यकारी अधिकारी केंट चेंग ने इस स्मार्टफोन को पेष करते हुए कहा कि इसमें 20 एमपी और 8 एमपी का डुअल फ्रंट कैमरा जो सेल्फी को बेहतर बनाता है और 16 मेगापिक्सेल रियर कैमरा है। उन्होंने कहा कि क्वाॅलकाॅम के आधुनिक स्नेपडैªगन 625 आॅक्टा कोर प्रोसेसर पर आधारित इस स्मार्टफोन का स्क्रीन 5.5 इंच का है। जिसमें 4 जीवी रैम और 64जीबी रोम है। इसमें फास्ट चार्चिग के साथ 3,055 एमएएच की बैटरी है।

Best wishes for booklet Education Hub 2017-18


Dear Organizers

I am happy to learn that “Dwarka Parichay” is releasing a booklet entitled “Education Hub 2017-18” for the benefit and use thereby giving a message of continuous educational process which exists throughout in the life of human being. In fact, education is a process of development since birth till end. “Dwarka Parichay” has done a commendable work in the area of human as well as educational development by publishing series of educational articles which have played a motivational role for the development of students in various fields. The articles published by “Dwarka Parichay” shows the importance of human values, love and respect for family, firmness in our behaviour, protecting the weak and helping the needy, sibling relationships, differentiating between right and wrong, value of a promise, love and respect for parents which have motivated our young generation.

I send my best wishes and greetings to all of you.

With warm regards

Sincerely yours

Dr. M.C.JAIN
ASSOCIATE PROFESSOR (Rtd)
Dept of Psychology
NCERT, New Delhi-110016

Friday, January 27, 2017

Archerzmrs India 2017- Beauty Pageant North India media launch


(Report & Photo: Honey Sehgal)
New Delhi, January 2017:Ashish Rai Chairman Archana Tomar-President, Tusshar Dhaliwal,Founder of  Archerz of  India, powered by AR Entertainment group, event partner Viscera events and models management, Sandeep Sehrawat (Director) Rashmi Sachdeva (official image consultant) at Grand media launch of Archerz Mrs. India 2017 held at the Grog Head Pub in green park on 25th January. 

Archerz mrs. India 2017 auditions have already held in pune, Kolkata, Hyderabad, Nagpur, Chandigarh, Lucknow, Patiala, Bangalore, Ahemdabad and next audition is held in 28th Jan in Jaipur, 1st Feb in Delhi NCR, 5th feb in M.P. and 8th Feb. in Mumbai and also grand finale will held in Mumbai. 

Producer Ashish Rai,Chairman of all of these companies,Archerz Mrs. India ,AR Entertainment Group ,AR Entrepreneur pvt Ltd ,AR cinema ,AR advertising ,AR charter ,AR Education Foundation AR Cinema ,AR Films ,AR Motion Picture PVT Ltd ,Yes kitchen ,S.J School ,Rai Event,Sun Cellular,Balika inter collage. 

Rita gangwani, Dr. Varun.Katyal ,Amit Talwar ,Vivek Mishra, Amitabh shriwastav, Vivek Mahajan,Yotsana Attree, Amit Gupta-Gem Mines,Rrashmii Sachdevaa,Chand Bakshi,Neelam Saxena,Shaine Soni, Sangeeta Singh,Shelly Singh ,Anita Anita Khatri,Rajeev Gupta,Ajay Rajpal ,Aman Batra, Sunny Sandy, Monu Arora,Gaurav Chaudhry ,Manish Luthra ,Shanker Shankar Sahney, Tripathi ,Krishna Tiwari, Juhi Neeraj Krishnani also graced this grand launch.

अशोक लेलैंड ने ‘गुरू‘ और नेक्स्ट जेनेरेशन ‘पार्टनर‘ लाॅन्च किया

-प्रेमबाबू शर्मा

अशोक लेलैंड, हिंदुजा ग्रुप की प्रमुख कंपनी और भारत में सबसे बड़ी काॅमर्शियल वाहन विनिर्माता से एक, ने दिल्ली में ‘गुरू‘ और ‘पार्टनर‘ को लाॅच किया। गुरू नवीनतम इंटरमीडिएट काॅमर्शियल व्हीकल (आइसीवी) है और पार्टनर नया लाइट काॅमर्शियल व्हीकल (एलसीवी) है। ‘गुरू‘ द्वारा श्रेणी में सर्वोत्तम ईंधन दक्षता और सर्वाधिक वास्तविक पेलोड के संयोजन की पेशकश की जाती है और यह अपने मालिकों को अधिकतम लाभ प्रदान करता है। ‘दोस्त‘ की व्यावसायिक सफलता के बाद, ‘पार्टनर‘ भारत का पहला एयर-कंडिशन्ड एलसीवी गुड्स व्हीकल है जिसमें अशोक लेलैंड के बेहतरीन आराम का समावेश किया गया है। ‘गुरू‘ को वैट सहित 14.18 लाख रूपये से 16.52 लाख रूपये की कीमत में उतारा गया है और पार्टनर 4 टायर, 14 फीट एचएसडी बीएस प्ट की कीमत 10.29 लाख रूपये है। यह कीमतें एक्स-श्शोरूम, दिल्ली की हैं।

इस लाॅन्च के दौरान श्री विनोद के. दासरी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक, अशोक लेलैंड लि. ने कहा, ‘‘अशोक लेलैंड ने पिछले कुछ वर्षों में काफी प्रगति की है और यह हमारे परिणामों में परिलक्षित होती है। इस प्रदर्शन का अभिन्न हिस्सा है हमारा बेहतरीन उत्पाद पोर्टफोलियो जोकि हमारे ग्राहकों को शानदार लाभ प्रदान करता है। हमें लगता है कि सभी बाजारों में हमारी बाजार हिस्सेदारी बढ़ने के पीछे यही मुख्य कारण है। इस श्रेणी में दो प्रमुख उत्पाद ‘गुरू‘ और नेक्स्ट जेनेरेशन ‘पार्टनर‘ हैं। यह क्रमशः इंटरमीडिएट काॅमर्शियल व्हीकल सेगमेंट एवं लाइट काॅमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में हमारी नवीनतम पेशकश हैं। इन लाॅच के साथ, हमने बाजार में हमारी स्थिति कोऔर सुदृढ़ किया है और हम आइसीवी एवं एलसीवी श्रेणी में अपनी बाजार हिस्सेदारी उल्लेखनीय ढंग से बढ़ाकर दुनिया में शीर्ष 10 ट्रक निर्माताओं में शामिल होने के अपने सपने के और करीब आ गये हैं।‘‘

श्री अनुज कठुरिया, प्रेसिडेंट, ग्लोबल ट्रक्स, अशोक लेलैंड ने कहा, ‘‘अशोक लेलैंड ने अपने ग्राहकों को सही उत्पाद देने पर फोकस किया है और ‘गुरू‘ हमारी नवीनतम पेशकश है। आइसीवी ट्रकों में हमारी विजन को हासिल करने के लिए प्रमुख फोकस क्षेत्रों में से एक है। ‘गुरू‘ के साथ अशोक लेलैंड प्रतिस्पर्धी आइसीवी सेगमेंट में अपनी बाजार हिस्सेदारी बढ़ायेगा। गुरू ग्राहकों को उनकी बिक्री बढ़ाने में मदद करता है और उन्हें बेस्ट पेलोड प्रदान करता है। यह मजबूत एवं भरोसेमंद एग्रीगेट्स की बदौलत सर्वाधिक अपटाइम सुनिश्चित करता है। प्रतिस्पर्धी कीमतों में लाॅच किया गया ‘गुरू‘ पहियों की लंबी उम्र के साथ श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ ईंधन दक्षता प्रदान करता है। इससे ग्राहकों की परिचालन लागत कम होती है। ‘आपकी जीत, हमारी जीत‘ के ब्रांड वादे पर जोर देने वाला गुरू हमारे ग्राहकों को उनकी बिक्री बढ़ाकर और परिचालन खर्च कम करके अधिक से अधिक मुनाफा कमाने में मदद करेगा।‘‘

इस लाॅन्च के अवसर पर श्री नितिन सेठ, प्रेसिडेंट-लाइट काॅमर्शियल व्हीकल्स, ने कहा, ‘‘हमें अशोक लेलैंड के इस एलसीवी ‘पार्टनर‘ को पेश करके खुशी हो रही है। यह अपनी श्रेणी में भारतीय उद्योग का पहला ट्रक है जिसमें एयर कंडिशंड (एसी) केबिन दिया गया है और यह बीएस- प्ट इंजन से सुसज्जित है।

A lecture on `Dancing the Nation: The First Inter University Youth Festival,1954 and the Changing Profile of the Indian Artiste’



Thought of The Day


Inviting Students,Teachers & Parents to share thoughts on exam preparation for Mann Ki Baat


68 सालों बाद भी भ्रष्टाचार और अपराध मुक्त भारत की परिकल्पना, एक दिवास्वप्नः दयानंद वत्स

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के तत्वावधान में आज रोहिणी स्थित संघ के मुख्यालय बरवाला में संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स की अध्यक्षता में 68वां गणतंत्र दिवस क्या खोया क्या पाया विषयक एक सार्थक परिचर्चा का आयोजन किया गया। परिचर्चा से पूर्व संघ की और से श्री दयानंद वत्स ने जम्मू कश्मीर के गुरेज सेक्टर में हिम स्खलन में शहीद हुए 11 सैनिकों को कृतज्ञ राष्ट्र की और से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए अपने संबोधन में श्री वत्स ने कहा कि आज जब पूरा राष्ट्र धूमधाम से 68वां गणतंत्र दिवस मना रहा है वहीं दूसरी और सीमाओं पर देश की आन, बान और शान की खातिर हमारे वीर सैनिकों ने गणतंत्र दिवस के दिन ही अपने प्राणों का बलिदान कर दिया।

समूचा देश उनके अदम्य साहस और शौर्य से अभिभूत है। परिचर्चा में बोलते हुए श्री वत्स ने कहा कि गणतंत्र के 68 सालों में भारत ने हर क्षेत्र में प्रगति की है । हरित और श्वेत क्रांति के बाद अब संचार क्रांति में भी भारत ने दुनिया में अपना वर्चस्व स्थापित किया है। संविधान प्रदत्त अधिकारों का तो सबको पता है परंतु कर्तव्यों के निर्वहन का बोझ कोई उठाना नहीं चाहता। 

दुर्गा, लक्ष्मी और सरस्वती के रुप में नारी की पूजा करने वाले भारतीय समाज में 68सालों के बाद भी बेटी बचाओ बेटी पढा़ओ जैसे अभियान चलाया जाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि देश की आधी आबादी को हम इतने सालों बाद भी सुरक्षा और सम्मान तक मुहैया नहीं करा पाए हैं। शिक्षित वर्ग भी दहेज जैसी सामाजिक कुरीतियों का खुलकर विरोध करने की स्थिति में नहीं है। देश में हजारों कानूनों के होते हुए भी सारे सिस्टम में भ्रष्टाचार के कारण जंग लग गया है। कानून और व्यवस्था की स्थिति में सुधार की आवश्यकता है। भ्रष्टाचार और अपराध मुक्त भारत की परिकल्पना को अमली जामा पहनाए जाने का अब समय आ गया है। श्री वत्स ने कहा कि यदि हम अब भी नहीं चेते तो आने.वाली नस्लें हमें कभी माफ.नहीं करेंगी।

Happy Birthday- Bobby Deol


Thursday, January 26, 2017

मतदाता दिवस पर सर्वोदय बाल विधालय प्रहलादपुर बांगर में छात्रों और शिक्षकों ने मताधिकार का प्रयोग करने की शपथ ली।


सर्वोदय बाल विधालय, प्रहलादपुर बांगर के प्रांगण में आज प्रधानाचार्य श्री वी.के शर्मा की अध्यक्षता जवं शिक्षाविद् दयानंद वत्स के सानिध्य में मतदाता दिवस मनाया गया। इस अवसर पर शिक्षाविद् दयानंद वत्स ने अठारह सौ छात्रों ओर शिक्षकों को शपथ दिलाई कि हम भारत के नागरिक लोकतंत्र में अपनी पूर्ण आस्था रखते हुए यह शपथ लेते हैं कि हम अपने देश की लोकतांत्रिक परम्पराओं की मर्यादा को बनाए रखेंगे तथख स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए, निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति,समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।
इस अवसर पर प्रधानाचार्य श्री वी के शर्मा ने कहा कि विधालय के जिन छात्रों की आयु अठारह वर्ष पूरी हो गयी है उन सभी के मतदाता पहचान पत्र स्कूल में ही फार्म भरवाकर बनवाए जा रहे हैं।

छात्रों को संबोधित करते हुए श्री वत्स ने कहा कि सरकार की और से मतदाता पहचान पत्र और आधारकार्ड बनाने का कार्य युद्धस्तर पर चलाया जा रहा है इसलिए सभी छात्र अपने गली मोहल्ले में लोगों को इस बाबत जागरुक करें और कार्ड बनवाने में उनकी मदद भी करें।

Shiksha Bharati Public School celebrated 68th Republic Day


Shiksha Bharati Public School, Sector 7, Dwarka celebrated 68th Republic Day with great pomp and show on 25th January 2017 in the school premises.

The National Flag was hoisted by the chief guest Shri Akhilesh Roy - Flying Officer (retired) Indian Air Force with honourable Manager Madam, guest of honour Dr BK Singh - chief neurosurgeon, Apollo Hospital, New Delhi and Vice Principal Madam. Flag hoisting was followed by the National Anthem. The guests were welcomed with bouquet, memento and shawl.

Scouts and Guides and band demonstration was given by the students of primary and senior wings. Vice Principal madam gave a welcome address. Senior students presented a group patriotic song and a speech on the Republic Day was delivered by a senior student. Tiny Tots presented a dance reflecting the zeal of three forces. This performance enthralled the audience. The hostel students performed at dance 'Taare Zameen Par' very nicely. 

Finally, a short play was enacted by the students of senior Wing. This play showed the sacrifices of our freedom fighters to release our country from the cruel clutches of Britishers. The play was ended with the introduction of our constitution. The play deserved a huge round of applause. 

On this occasion the chief guest gave away prizes to the winners of co-curricular activities. He praised the programme in his speech. 


Honourable Manager Madam conveyed her wishes to the staff and students. Tri - colour balloons were flown in the air symbolising freedom. The programme came to an end with a vote of thanks proposed by a senior wing student.

Book Vision2020 by Satish Raj Deswal & S S Dogra


Republic Day celebration was organised by Shree Gyan Gangotri Vikas Sanstha


Republic Day celebration was organised by Shree Gyan Gangotri Vikas Sanstha. (Reg. NGO) at its reg. office located at B-70, Madhu Vihar, Uttam Nagar, New Delhi- 110059. The program was participated by all projects of the society but epcially by Gangotri Public School. and recriantion center for senior citizens (supported by department of social welfare, gov. of Delhi. The program began with flag hoasting along with national anthem. There after cultural programs were presented by the students of Gangotri Public School. Several senior citizens were also presented songs, poems and speaches during the program. The program was presided by Shree Bhullar Prasad Prajapati from Rajapuri, before over the program talented children where awarded by the foundere general secretary of SGGVS. Mr. Dharam Raj Vishav Karma vice president of senior citizen sell of the society delivered vote of thanks. After destribution of refreshment the program got over. On these ocassion teachers of gangotri public school explained the importance / relevance of the day. Bhai B.K Singh futher explained in detail about the past , present and future of Shree Gyan Gangotri Vikas Sanstha. The program was also participated by so many parents of the children in Gangotri Public School.

Happy Republic Day


Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: