Search & get (home delivered) HOT products @ Heavy discounts

Sunday, July 17, 2016

सुपर पॉवर दिखाएगी असलम-अंकुर की ‘द हिप्नोटिस्ट’

—चन्द्रकांत शर्मा—

तमंचे, शॉर्टकट रोमियो, विडियोकॉन की विज्ञापन फिल्म सहित कई पंजाबी फिल्मों में प्रोडक्शन हेड के रूप में काम करके फिल्म निर्माण का अनुभव प्राप्त कर असलम हुसैन ने अपनेमित्र अंकुर श्रीवास्तव के साथ पिक्सटैक इंटरनेशनल बैनर तले इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के लिए शार्ट फिल्म ‘द हिप्नोटिस्ट’ तैयार की है। इस फिल्म के निर्देशक अनित श्रॉफ औरनिखिल गुप्ता हैं। फिल्म में अमित पुरोहित के साथ रूस और यूरोप की मॉडल कैथरीन , मैलिन , कमारा और बारबरा ने एक्टिंग की है। एक इंसान जब स्पेशल पॉवर प्राप्त कर लेता है तोवह कैसे गलत फायदा उठा सकता है, लड़कियों को सम्मोहित कर उनकी इज्जत से खेलने में भी नहीं हिचकता लेकिन एक न एक दिन तो उसे पश्चाताप करना ही पड़ेगा तब उसकीमनोदशा पर क्या प्रभाव पड़ता है यही कुछ फिल्म में दर्शकों को समझने को मिलेगा।

‘द हिप्नोटिस्ट’ की शूटिंग पनवेल के एक फार्म हाउस में हुई है। इसके निर्माण में असलम और अंकुर ने कोई कमी नहीं छोड़ी। हाल ही में इस शार्ट फिल्म की स्क्रीनिंग सनी सुपर साउंड मेंहुई। निर्माता जोड़ी में से असलम हुसैन बिहार के छपरा जिले में परसा गांव से हैं वहीं डॉ. राजेंद्र कॉलेज से प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण कर फिर कोलकाता यूनिवर्सिटी से बी कॉम ऑनर्स ग्रेजुएशनकम्पलीट की। उसके बाद कोलकाता फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया से फिल्म मेकिंग और एक्टिंग का प्रशिक्षण लेकर अपनी गुरु बांग्ला फिल्मों की हीरोइन इन्द्राणी हलदरके बुलावे पर मुम्बई आ गए। कुछ समय बाद असलम ने वीडियोकॉन ज्वाइन किया जहां पर हिंदी फिल्मों के हीरो निखिल द्विवेदी जो कि वीडियोकॉन मीडिया कंपनी में सीईओ हैं, उनसेप्रोडक्शन की जानकारी हासिल की। फिर अपने फेवरिट हीरो शाहरुख खान के साथ केनस्टार स्मार्ट फैन और वीडियोकॉन मोबाइल की एड फिल्म में पोस्ट हेड का कार्य किया। असलम केजोड़ीदार अंकुर श्रीवास्तव मध्य प्रदेश के ग्वालियर से हैं। वह रामकृष्ण विद्या मंदिर ग्वालियर में पढाई के दौरान संगीत और कला क्षेत्र में हिस्सा लिया करते थे। बचपन से लोकनृत्यलोकसंगीत में अंकुर की रूचि रही है। उन्हें फिल्म देखने का शौक था जब मि. इंडिया देखी तो अनिल कपूर की अदाकारी के दीवाने हो गए और फिल्म लाइन में आने के लिए सोचने लगेलेकिन अपनी पढ़ाई में फिल्मों को हावी नहीं होने दिया। मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद अंकुर मर्चेंट नेवी ज्वाइन कर मुम्बई आ गए। मुम्बई में समय निकाल कर विलेपार्ले केनेशनल स्कूल ऑफ इवेंट मैनेजमेंट में दाखिला लिया और इवेंट और मॉडलिंग क्षेत्र की जानकारी प्राप्त की। फिर असलम से मुलाकात हुई और दोनों मिलकर फिल्म निर्माण की योजना कोसाकार करने में जुट गए। इस शार्ट फिल्म को करने के बाद दोनों ने हिंदी और मराठी फिल्म बनाने के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं ।

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: