Search & get (home delivered) HOT products @ Heavy discounts

Thursday, June 30, 2016

भगवान् की प्राप्ति

मधुरीता 

शरीर के साथ संबंध होने से यह जीव है और शरीर के साथ संबंध न होने से वह ब्रह्म् है अतः वास्तव में जीव और ब्रह्म् दोनों ही समग्र भगवान के अंश है |

भगवान् को जानने वाला मनुष्य की यह पहचान है की वह सब प्रकार से स्वत : भगवान् का ही भजन करता रहता है |

भगवान् ने अपनी प्राप्ति के छः उपाय बताये है -

१ संसार को तत्व से जानना |
२ संसार के माने हुए संबंधो का विच्छेद करके एक भगवान् के शरण होना |
३ अपने में स्थित परमात्मा को जानना |
४ वेदाध्ययन द्वारा तत्व को जानना |
५ भगवान् को पुरुषोतम जान कर सब प्रकार से उनका भजन करना |
६ संपूर्ण अध्याय के तत्व को जानना |

भगवान् को देखने की जानने की इच्छा होना ही वास्तव में मनुष्य की श्रेष्ठता है | जितने भी कर्म किये जाते है उन सबका आरम्भ और समाप्ति होती है अतः उन कर्मो से मिलने वाला फल भी आदि और अंत वाला ही होता है | अतः ऐसे कर्मो से भगवान् के अनंत असीम अन्यय दिव्य स्वरूप के दर्शन कैसे हो सकते है ? उनके दर्शन तो केवल भगवान् की कृपा से ही होते है - कारण की भगवान् नित्य है और उनकी कृपा भी नित्य है |

यह एक सिद्धांत की बात है की जो चीज किसी मूल्य से खरीदी जाति है वह चीज उस मूल्य से कम मूल्य की ही होती है |जैसे कोई दुकानदार एक घड़ी सौ रूपये में बेचता है तो उसने वह घड़ी कम मूल्य में ली है | तभी तो वह सौ रूपये में देता है | इसी तरह अनेक वेदों का अध्ययन करने पर बहुत बड़ी तपस्या करने पर बहुत , बड़ा दान देने पर तथा बहुत बड़ा यज्ञ अनुष्ठान करने पर भगवान् मिल जायगे ऐसी बात नहीं है |

कितनी ही महान् क्रिया क्यों न हो कितनी ही योग्यता सम्पन्न क्यों न की जाए उसके द्वारा भगवान् खरीदे नहीं जा सकते | वे सब के सब मिलकर भी भगवत्प्राप्ति का मूल्य नहीं हो सकते | उनके द्वारा भगवान् पर अधिकार नहीं जमाया जा सकता | त्रिलोकी में आपके सामान भी कोई नहीं है फिर आपसे अधिक हो ही केसे सकता है ? तात्पर्य है की आपसे अधिक हुए बिना आप पर अधिकार नहीं किया जा सकता |

संसारिक चीजों में तो अधिक योग्यता वाला कम योग्यता वाले पर अधिपत्य कर सकता है, अधिक बुद्दिमान कम बुद्धिमान वालों पर अपना रोब जमा सकता है और अधिक धनवान निर्धर्नो पर अपनी अधिकता प्रकट कर सकता है |

राग-द्वेष रहित अहम् भाव त्याग कर अपने आपको भगवान् के सवर्था समर्पित करके अनन्यभाव से भगवान् पुकारता है तब भगवान् तात्काल प्रकट हो जाते है | कारण की जब तक मनुष्य के अन्त: करण में प्राकृत वस्तु, योग्यता, बल, बुद्धि आदि का महत्व और सहारा रहता है तब तक भगवान् अत्यंत नज़दीक होने पर भी दूर दीखते है |

भगवान् के साथ सहज स्नेह में कोई मिलावट न हो अर्थात कुछ भी चाहना न हो | जहा कुछ भी चाहना हो जाए वहाँ प्रेम केसा ? वहां तो आसक्ति-वासना और मोह-ममता ही होते है |

भगवान से पुराना कोई नहीं क्योंकि वे कालातीत है |

साधक को भगवत्प्राप्ति में देरी होने का कारण यही है कि वह भगवान् के वियोग को सहन कर रहा है | यदि उसको भगवान् का वियोग असहनीय हो जाए तो भगवान् को मिलने में देरी नहीं लगेगी |

जीटीवी शो सारेगामापा में अब है असली चुनौतियां

 प्रेमबाबू शर्मा

जीटीवी शो सारेगामापा में धूम मचाने वाली सभी प्रतिभागी अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे है। रूपाली जग्गा,जगप्रीत बाजवा,ज्योतिका,कुशल पोल,सचिन कुमार और दिल्ली कि हरजोत कौर ने अपनी गायकी से जजों के अलावा सुप्रसिद्व गायिका आशा भोंसले जी को भी प्रभावित किया। यह कड़ी पंचम दा के जन्मदिन पर उनको श्रद्वाजंलि थी। आशा जी ने सभी की तारीफ की।

 शो में सुनिधि चैहान के नाम से प्रख्यात हरजोत कौर ने आशा की गायिकी के गीतों को स्वर दिया तो श्रोता झूम उठे। आशा जी ने कहा कि ‘उनकी आवाज में कशिश है,वह जो गाती है, तो मन झूमने लगता है।’ वैसे भी हरजोत को जूनियर सुनिधि चैहान की उपाधि प्रसिद्व संगीतकार साजिद वाजिद की जोडी़ साजिद भाई ने उस समय प्रदान की जब हरजोत ने शो के ओडिशन में गीत‘ हंगामा हो गया’ को स्वर देकर तहलका मचा दिया।
हरजोत कौर सारेगामापा की युवा प्रतिभागियों में से एक है। पूरे देश और विदेश से भाग लेने वाले एक लाख छब्बीस हज़ार प्रतिभागियों में से देश की जनता द्वारा चुने गये टाप बारह में अपना स्थान बनाने के बाद टाॅप आठ में अपनी जगह बना चुकी है। इस शो में हरजोत संगीतकार प्रीतम की टीम की एक प्रतिभागी है।

क्रोध और हम

डॉ ० एम ० सी ० जैन

क्रोध एक ऐसी मानसिक प्रक्रिया है जो हम सभी में पाई जाती है | हम क्रोध क्यों करते है या हमे क्रोध क्यों आतां है इसके अनेक कारण हो सकते है। मनोवैज्ञानिकों ने इस मानसिक प्रक्रिया का गहन अध्यन किया है | दूसरों की गलितयों पर सज़ा देना क्रोध है लेकिन स्वम को सज़ा देना भी क्रोध है | चाहे घर हो या आफिस हो ,या स्कूल या कोई और जगह , सभी जगह पर हम प्राय: देखते है कि लोग छोटी छोटी बातो पर भी क्रोध करने लगते है | हमारी पुस्तके , धार्मिक शास्त्र सभी में क्रोध रूपी प्रक्रिया का जिक्र आता है | आज हर जगह चर्चा होती है क़ि "उसे " क्रोध अधिक आता है , क्या पहले क्रोध नहीं था |

मनोवैज्ञानिकों ने एक अध्यन के द्वारा यह पाया है कि करीव 30 वर्ष पहले के अनुपात में आज क्रोध की मात्रा बढ़ती ही जा रही है। आए दिन गोली बारी , मनमुटाव ,हमारी मानसिकता क्रोध के प्रति कम नहीं करते इस प्रक्रिया का अकस्मात बढ़ने के पीछे कोई न कोई कारण अवश्य ही होगा ये सत्य है कि बिना कारण के कोई भी कार्य नहीं होता | यदि हम कारणों की सूची बनाना चाहे तो शायद कोई बहुत बड़ी पुस्तक या शास्त्र बन सकता है | ये सत्य है कि किसी को भी स्वय क्रोध नहीं नहीं आता है परिस्तिथिया स्वयं ही बन जाती है | क्रोध के लिए वातावरण , कार्य शैली, पढ़ाई , व्यवहार ,भोजन, समय , मेल -मिलाप आदि अनेक कारण हो सकते हैं

आजकल पाश्चात्य शिक्षा का चलन बढ़ता चला जा रहा है | हम अक्सर देखते है कि पाश्चात् शिक्षा केवल शिक्षा ही होती है व्यवहार, कार्य शैली नहीं | आज से करीब 30 -40 वर्ष पहले बच्चे बड़ो का सम्मान करते थे , लेकिन आज हम सब भूल गए है | घर के बड़ों ने यदि कोई बात कह दी तो बस समझ लीजिए घर में महाभारत शुरू हो गया | बड़ो की बात का जबाब उनके मुंह पर ही देना ,बात न मानना ,अपने आपको अधिक बुद्धिमान समझना घर में अशांति एवं क्रोध का कारण बन जाता है क्रोध रूपी तत्व जवांन , बच्चा , बूढ़े सभी में भरा हुआ है व पाया जाता है | किसी भी कार्य के लिए मान अथवा सम्मान होना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है | हमारे अभिमान को ठेस लगने से भी क्रोध शीघ्र आजाता है | आपको यदि कोई वस्तु पसंद नहीं, वही चीज बार बार आपके करने के लिए कही जाए तो क्रोध आना स्वाभाविक ही है | हमारे स्वभाव के विपरीत वातावरण भी हमारे मस्तिस्क में हल -चल पैदा करके ,क्रोध बढ़ाने में सहयोगी हो जाता है |

अक्सर देखा गया है कि बार बार किसी कार्य को करने में जब वह कार्य सफल नही होता है तो भी क्रोध का उत्पन्न होना स्व्भविक ही है | अनेक बार देखा गया है माता -पिता बच्चों पर क्रोध करते है लेकिन ये क्रोध वास्तविक नहीं होता है , ये तो क्रोध बच्चों को सही मार्ग पर लाने का एक प्रयत्न होता है | क्रोध ज्ञानियों का ज्ञान, एवं तपस्सीयों का तप कुछ ही समय में समाप्त कर देता है , भाषा का सयम खो देता है एवं अनर्थ हो जाता है | भगवान कृष्ण ने गीता में कहा है --

" क्रोध से बुद्धि भर्मित हो जाती है ,बुद्धि भ्रांत होने पर स्मति लुप्त हो जाती है और स्मति लुप्त होने पर उचित -अनुचित का ज्ञान समाप्त हो जाता है और बुद्धि का नाश हो जाता है और बुद्धि का नाश होने पर व्यकित का सर्व नाश हो जाता है "

Wednesday, June 29, 2016

Dwarka Baat Cheet by Editor of India’s most prestigious social Science journal - EPW


ARJUN KAPOOR- BUCK OF ICE AGE:COLLISION COURSE CELEBRATED HIS BIRTHDAY WITH FRIENDS SID AND SCRAT!


Prembabu Sharma​

Sid and Scrat, the fun duo from ICE AGE:COLLISION COURSE dropped by to surprise Arjun Kapoor on the sets of Half Girlfriend in Delhi to wish him on his birthday. And having these two adorably crazy characters surprising him instantly pepped and changed his mood.. There wasn’t much of celebration but Arjun took Sid and Scrat around the sets where they got their dose of bollywood! It was a lovely surprise for the cast and the crew and having the two adorable characters made the atmosphere on the sets a lot more fun!

Arjun Kapoor has been recently roped in to lend his voice for BUCK, one of the leading characters of Ice Age: Collision Course. The film is releasing in India on 22nd July.

Synopsis
Scrat’s epic pursuit of the elusive acorn catapults him into the universe, where he accidentally sets off a series of cosmic events that transform and threaten the Ice Age world. To save themselves, Sid, Manny, Diego and the rest of the herd must leave their home and embark on a quest full of comedy and adventure, as they travel to exotic new lands and encounter a host of colorful new characters.

Buck is still the swashbuckling, slightly off-kilter protector of the Lost World we met in ICE AGE DAWN OF THE DINOSAURS. When this weasel discovers a sign that the end of the world is near, he comes up from the Dino land below to warn his friends, setting off with them on a mission to save the world.

फिल्म ‘अन्ना’ का पहला पोस्टर रिलीज


प्रेमबाबू शर्मा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरी को पहचाने देने वाले अन्ना हजारे याानि किशन बाबूराव अन्ना हजारे के जीवन पर आधारित इस फिल्म का निर्देशन शशांक उदापुरकर ने किया है।

अन्ना हजारे पर बन रही इस फिल्म की शूटिंग की शुरुआत अहमदनगर जिले में स्थित उनके पैतृक गांव रालेगण सिद्धि से हुई। इस फिल्म के निर्माता महेंद्र जैन हैं. अन्ना हजारे की भूमिका शशांक ही निभा रहे हैं.

फिल्म में तनीषा मुखर्जी, गोविंद नामदेव, शरत सक्सेना, किशोर कदम, दयाशंकर पांडे, प्रसन्न केतकर, अतुल श्रीवास्तव,अश्विनी गिरि, अनंत जोग, शशि श्रीवास्तव, मजहर खान जैसे कलाकार हैं.

​I’m a fan of Bruce Lee, Jackie Chan: Remo D’Souza

 Prembabu Sharma​ 

Remo D’Souza, the Godfather of dance is all prepped up to become an esteem judge for the show Dance+, the upcoming sensation on STAR Plus. He is extremely excited to showcase his contestants on the show this season and to hunt India’s next dancing star.
​​
We all know our Super judge’s passion for dancing but there is something more that Remo loves and pursues in his life. Martial arts, is the other craft he practices and is a devoted follower of the two iconic names in this field.

Talking about the same, he said, “Dance and action are very close to my heart because I use to do martial arts before dance. I am a huge fan of Bruce Lee and Jackie Chan. They are my favorite action heroes.”

Talking about his upcoming film, Remo D’Souza added, “I always wanted to do different kinds of films. That’s why my first film F.A.L.T.U was not on dance but on college education. Then I made two films on dance. After that an action film -A Flying Jatt.”

Watch Remo D’Souza on Dance + Season 2, from 2nd July onwards every Saturday & Sunday at 8 pm.

Mirchi Jhonk presented "AAGAZ"


Prembabu Sharma

​Mirchi Jhonk an NGO working for women empowerment presented "AAGAZ" (आग़ाज़)
​at Muktadhara Auditorium - Bhai Veer Singh Marg, Gole Market, New Delhi.

​ A play raising the question on the harsh and hypothetical behavior of our society towards women. A theater performance tapping the issues of hypocrisy against women under the hood of prejudices & norms of our cultural society. A highly intense drama provoking thoughts to think again over our treatment towards women. Some short dance performances by little stars, to exhibit what they have learned and to leap over the fear of facing real audiences.

Founder of Mirchi Jhonk, Dr Seema Malik said that “Mirchi Jhonk which is dedicated to encourage self and cross defense amongst women and to stop all kind of crime and atrocities such as molestation, rape and dowry deaths.” 

Mirchi Jhonk is highly involved with teaching self defence, giving out pepper sprays and teaching their proper use, creating awareness through theater and films.

Saurabh Malik, a trustee and director of Mirchi Jhonk is an actor and made his acting debut with Ab hoga dharna unlimited, a critically acclaimed political satire. He is currently involved in various bollywood projects and wants his craft to be a social medium to address various aspects of social upliftment. Sumit Chadha who is the director of Aagaz and Szoon Media Company which came up with these wonderful performances with adult actors and tiny tots of Szoon School, who left everyone spell bounded with their performances was ecstatic and very happy to be part of this social cause. The audiences got very emotional with the realistic feel of the play. Dr Seema Malik appreciated all performances and gifted participants of the event with gift certificates. The event was attended by Mr Manuj Sharma, Film Producer, Mr Yashwant Nikose, ex cultural minister, Dr VS Malik, Shri Kaloriya BSP amongst others.

Development concerns in adoptive families


Tuesday, June 28, 2016

Good wishes Message for Toppers award from Ms. Anuradha Govind Principal J M Internationa School Dwarka



Note: Kind attn. Principal
Please send for publishing your views/ good wishes message for upcoming Toppers Award.
Text message (upto 500 words)/ video message (duration 2-3 minute only), mentioning students & school's achievements with good wishes message for the 4th Dwarka Toppers Students Award-2016.

लीक से हटकर है रोल: उर्वशी शर्मा


प्रेमबाबू शर्मा

पांड्स, गार्नियर जैसे ब्रांड के लिए मॉडलिंग करने वाली उर्वशी शर्मा फिल्म ‘नकाब’ और कलर चैनल शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ की प्रतिभागी रहीं चुकीं हैं। उर्वशी शर्मा दिल्ली में जीटीवी के नये सीरियल ‘एक मां जो लाखों के लिए बनी अम्मा’ के प्रमोशन के लिए आई थीं। शो में उर्वशी, अम्मा जी का किरदार निभा रहीं हैं। बातचीत के दौरान उन्होंने प्रेमबाबू शर्मा को बताया कि शो में बहुत ही चैलेंजिंग कैरेक्टर रहा है। पहले शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ में जहां मैंने ग्लैमरस कैरेक्टर निभाया वहीं इस सीरियल में अम्मा जी में बिल्कुल अपोजिट। मुझे चैलेंज पसंद है। टीवी शो के किरदार को भी चैलेंज की तरह लिया। एक कॉमन वुमेन से गॉडमदर बनने का बहुत ही चैलेंजिंग कैरेक्टर रहा। अपने बराबर या ज्यादा उम्र के कलाकार की मां का किरदार निभाना। उस विभाजन के समय की अम्मा जी के लिए मैंने वजन बढ़ाया, ताकि मैच्योर दिख सकूं। ढाई साल की बेटी समायरा से दूर हैदराबाद में 50 डिग्री सेल्सियस में शूटिंग की। स्किन जली, लेकिन हसबैंड के सपोर्ट से मैं इस किरदार को निभा पाई।

उर्वशी मानती है कि आज चैनलों के बीच प्रतिस्पर्धा है,और कलाकारों को भी अपना टैलेंट दिखाने का मौका मिल रहा है,हालात ने ही एक ममूली औरत को अम्माजी जैसी एक दबंग औरत बना हैं। अन्य चैनलों पर भी इस प्रकार के किरदार है,लेकिन हर कलाकार किरदार के साथ अपने तरीके से न्याय करता हैं। एक फिल्म में शबाना आजमी ने भी इसी प्रकार के किरदार को जीया था ? प्रश्न के उतर में उनका जबाव था कि मैंने फिल्म नही देखी लेकिन मैं इतना कह सकती हॅू कि मेरा रोल उनसे हटकर होगा।

Delhi Diary Art Gallery is the right place for the Art Lovers in the capital


S.S. Dogra

New Delhi: On Saturday 25th March 2016. This weekend has another feather in the cap of the Capital where Art & culture promotion is the main priority. Yes, the celebration began just in Southern heart of Delhi where an interesting event Celebration of Passion in Art at Delhi Dairy Art Lounge,D 20, South Extension Part-1, New Delhi. Delhi Dairy in collaboration of International Chamber of Media and Entertainment Industry a formal launch cum-Show was inaugurated by Media Guru Sandeep Marwah ji Founder, Director Marwah Studios, ICMEI, Delhi Diary Chapter, Gallery's first show... Delhi Diary Art Lounge, "Celebration of Passion in Art,Curated by Renowned Artist & Curator Dr Aarti Makkar

Mr. R.N.Chhabra, Gallery Director introduced the gallery for Art Shows, talks, lectures, cultural Events. it is one of the prominent gallery in Delhi. Chief Guest Mr. Sandeep Marwah appreciated the achievements & successful journey of Delhi Diary's of around four decades that promoting the prominent Art and Culture through their popular Magazine-Delhi Diary. He further added that this art gallery has great ambience to promote art and culture and conveyed his warm wishes he pray for the grand success of the gallery. Also he recalled and paid his gratitude for legendary Actor Om Prakash ji whom he met in 1975 at the time of opening ceremony of the exclusive music shop of entire north India in Khan Market. in the kind presence of one of the Gallery Director Promila Chhabra ji (Daughter of famous bollywood artist Om Prakash ji.

Dr. Aarti Makkar "CELEBRATION OF PASSION IN ART" is a new chapter in the field of art and culture. It is an effort where a beautiful message to convey the characteristic's of life in more prominent way. “Wah Ye Aurten “वाह ये औरतें” book authored by Ms. Madhvi Shree was also presented to Mr. Sandeep Marwah during this event. This event was hosted jointly by ICMEI & Delhi Dairy, the wonderful evening graced by Mr.Ravinder Bhandari (Bharat Nirman NGO), Dr. Amit Kaur- Scientist-cum-Social Activist, Social Activist & Lawyer Ms.Bhavna Bajaj, Mr.Narender (From Nepal), Afghanistani Filmmaker Ms.Sajia Shojaei, Mr.Qazi M Raghib-Design Consultant, Mr.Atul Sinha Sulptor, Mr.Bishwaranjan Bhunia Manoj Gujaral (graphic man ), French Connoisseur Ludwig.Z. (Digital Man) Mr. Ram Nawal Singh's friend. .Chief guest Sh. Sandeep Marwah ji missed Ms.Mohini Bajaj and Saroja Khanna of Delhi Diary Art Lounge, Sponsors majarto powered by NDTV. Many young artists from Delhi and NCR were also present at the gallery. It was a wonderful evening where all the guests enjoyed & spent quality time.

ANHLGT is organising Medical Camp on 30th June

ANHLGT is organising Medical Camp in association with Lfe Parmacy. Freee consultation by Dr. Preeti Rathore, Free Blood Pressure Monitoring, Blood Sugar testing - Fasting (4hrs After Fppd ) PP and Dietician Consultation.

Date: 30th June 2016, Thursday
Time : 3:30 pm
Venue: Senior Citizen Hall, M.C.D Park in between Bikaner Shop and Plot- 39, Adarsh Arya apt.

15% discount on medicine in prescription and Rs. 100/- Discount on the first order.

Happy Birthday- Jaspal Rana


Monday, June 27, 2016

विश्व सिनेमा के पर्दे पर नजर आएंगी बैंड मास्टर की कहानी निर्देशक धर्मेंद्र उपाध्याय


प्रेमबाबू शर्मा

राजस्थान केे यशस्वी कहानीकार विजयदान देथा का साहित्य का तारा एक बार फिर सिनेमाई आकाश पर चमकेेगा। श्री राधा गोविंद फिल्मस के बैनर निर्मित व विजयदान देथा की कहानी पर आधारित फिल्म ‘बैंडमास्टर’ में एक बार फिर विज्जी के किस्सागोई से सिनेप्रेमी रूबरू होंगे। फिल्म की शूंिटग पिछले दिनों कानोता के पास नायला खत्म हुई। फिल्म की निर्माता सुमनलता शर्मा हैं। पिछले सात साल से बतौर फिल्म पत्रकार काम कर रहे फिल्म केे निर्देशक धर्मेंद्र उपाध्याय है। 

बैंडमास्टर कहानी एक बैंड वाले की जिंदगी को बयां करती हैं कि किस प्रकार दूसरों केे घरों की खुशियों में अपनी प्राण वायु फंकूते फूंकते एक बैंडवाला, खुद खुशियों की लिए कितना मोहताज हो जाता है। फिल्म का नायक बैंड वादक इब्राहीम जिसने अपने इलाके में बाप से लेकर बेटे तक केे विवाह में बैंड केे जरिए रौनक बिखेर दी और इस कलाकारी और लोगों केे झूठे प्यार में हुई व्यस्तता में बूढा हो गया पर अपना घर नही बसा पाया। लेकिन एक दिन उसकेे साथ कुछ एसा घटता है कि वह बैंड की दुनियां को छोडने का निर्णय ले लेता है। 

फिल्म में शीर्ष भूमिका नच बलिये फेम अरविंदकुुमार निभा रहे हैं अन्य भूमिकाओं में राजस्थान केे चर्चित कलाकार अरविंद कुुमार केे साथ बाल कलकार यश राजस्थानी, राखी शर्मा, राजीव अंकित, रेणु सनाडय, प्रियंका शर्मा, और यजुवेंद्र सिंह बीका फिल्म में नजर आएंगे। 

विजयदान देथा केे पुत्र महेंद्र देथा केे मुताबिक, पिताजी की लिखी कहानियों पर यूं तो पहले भी प्रकाश झा, मणि कौल और अमोल पालेकर ने अपनी सिनेमाई दृष्टि डाल चुकेे हैं। एक बार फिर मुझे बहुत खुशी हो रही है कि उनकी एक भावना प्रदान कहानी को सिनेमाई दृष्टि मिल रही है। फिल्म की निर्माता सुमनलता शर्मा ने बताया, इस कहानी पर फिल्म निर्माण का उद्देश्य राजस्थान की मिट्टी की भावनाओं को सिनेमा के जरिए देश विदेश के दर्शकों तक पहुंचाना है।

फिल्म केे निर्देशक धर्मेंद्र उपाध्याय विजय दाना देथा केे साहित्य से परिचय हुआ। और अपने पहले फिक्शन की शुरूआत उनकी ही कहानी पर फिल्म निर्माण से की। धर्मेंद्र उपाध्याय ने बताया कि ‘फिल्म को बहुत ही बेहतरीन तरीके से फिल्माया गया है,अब और मेरा सिर्फ एक ही मकसद है,कि विश्व सिनेमा के पटल यानि फिल्म फेस्टीवल्स में भेजना । ताकि लोग बैंडबाजो वालो की असल जिंदगी से रूबरू हो सके। हर फिल्म का मजबूत पक्ष होता है,उसकी मजबूत कहानी ,यह कहानी मुझे पंसद आई और मैंने इस पर बिना कोई राइट लिए स्क्रिप्ट भी लिख दी । बाद में मैंने विजय दान देथा जी के पुत्र महेंद्र देथा से इस कहानी पर फिल्म बनाने केे अधिकार प्राप्त किए।’

फिल्म की कहानी की ताकत इसका इमोशनल कंटेंट है। बैंडमास्टर में गरीब परिवार केे सपने और उन सपनों के साथ नियति की क्रूरता का यथार्थ चित्रण इस फिल्म में देखने को मिलेगा। फिल्म की शूटिग मुंबई में सपंन्न हुईं और अब फिल्म का पोस्ट् प्रोड्क्शन मुंबई में शुरू हो गया।

Prime Minister's Man ki Baat: US-system should be studied for auto-elimination of black money


MADHU AGRAWAL 
(Guinness Record Holder for letters in Newspapers)

Prime Minister in his Man ki Baat on 26.06.2016 gave, rightly so, stern warning for disclosing unaccounted income by 30th September 2016. He rightly pointed out towards the bitter reality of just 1.5 lakh people declaring annual income above rupees 50 lakhs. Charity should begin at home. Raids should be conducted on offices of political parties and big political bosses cutting across party-lines having spent so much on mega-rallies and other wasteful poll-expenditure. Unfortunately political requirements compel even ruling party at the centre compromising with regional political bosses known for unaccounted income and wealth.

Tax-evasion and undisclosed incomes must rather be auto-detected by best utilisation of Information Technology whereby it may not be practically possible to evade taxes and have undisclosed assets, rather than unnecessarily expecting and waiting people to disclose voluntarily. Study should be made about US-system where every single penny spent by an individual automatically goes to database making tax-authorities detect spending more than income/wealth. All possible steps should be taken to replace currency-circulation by banking-transaction. Useless and misused tax-exemptions like including 80G, 80GGB and 80GGC relating to donations for social cause and contributions received-by/made-to political parties should be abolished. 

Agricultural income should be taxed where super-rich rather than ordinary farmers take benefit to evade taxes. Heavy spent of black money in marriages and otherwise should be checked by reducing cash-transaction limit to just rupees 20000. Import and sale of gold should only be through banks because gold-traders issue multiple numbers of cash-receipts even for bulk sale made to those parking black money in gold.

Sunday, June 26, 2016

VLCC launches Slimmer’sTM Digestive Green Tea

प्रेमबाबू शर्मा

वीएलसीसी ने स्लिमर्स डाइजेस्टिव ग्रीन टी बाजार में उतारा से जो स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। यह एक हर्बल मेल है जिसमें जड़ी बूटियों का एक खास मिश्रण है। वीएलसीसी स्लिमर्स हर्बल इंफ्यूजन डायजेस्टिव ग्रीन टी में गोलमिर्च, मीठे सौंफ की फूल, इलायची, पिप्पली, दालचीनी ,अनार चूर्ण का मिश्रण है, ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट और फ्री रैडिकल स्कैवेनजिंग गुण मिलेंगे। इसके बारे में जाना जाता है कि यह वजन कम करने में सहायता करता है। इसके कुछ लाभ का उल्लेख करना हो तो इससे कैंसर का जोखिम कम होता है, हड्डियां मजबूत होती हैं और दिमाग बेहतर होता है।

वीएलसीसी स्लिमर्स की हर्बल इंफ्यूजन रेंज के अन्य रूपांतरों में निम्नलिखित शामिल हैं। ग्रीन टी के साथ वीएलसीसी स्लिमर्स हर्बल इंफ्यूजन,स्लिमिंग इस इंफ्यूजन वजन कम में सहायक है, और पाचन व मेटाबोलिज्म की प्राकृतिक प्रक्रिया को सहायता मिलती है। ग्रीन टी के साथ वीएलसीसी स्लिमर्स हर्बल इंफ्यूजन तनाव से राहत, एस्परैगस,जटा मांसी और ब्राह्मी का अनूठा मेल तनाव कम करने में सहायता करता है। और इसमें जख्म ठीक करने का भी प्रभाव है। इसकी कीमत 80 रुपए 10 बैग और 175 रुपए 25 बैग है,जो मेडिकल स्टोर और दुकानों पर उपलब्ध है।

एक महिला के डाॅन बनने की कहानी है ‘अम्मा जी’

 प्रेमबाबू शर्मा

गीत संगीत पर आधारित शो ‘ सारेगामापा’ के बाद में जी वीकेंड प्रोग्रामिंग में खास बदलाव लाते हुए जी टीवी पेश कर रहा हैं,‘एक माॅ जो लाखों के लिए बनी अम्मा’ । 52 कड़ियों के इस सीमित सीरीज में दो बच्चों की माॅ जीनत की कहानी हैं। भारत की सबसे ऐतिहासिक त्रासदियों में से एक बंटवारे के दौरान ज़ीनत का पति उन्हें छोड़ देता है। ऐसे समय में जब महिलाओं को उनकी मान्यताओं के आधार पर बेरहमी से शिकार बनाया जा रहा था और उन्हें न तो जीने की आज़ादी थी और ना ही कोई सुरक्षा ,ऐसे में ज़ीनत के सामने केवल दो ही विकल्प थे,खुद को संभाले और सब कुछ सहती रहें,या फिर अपने भीतर की चिंगारी भड़काए और बगावत कर ददे । उन्होंने दोनों ही रास्ते को चुनते हुए आने वाले कई दशकों तक एक बड़ी ताकत बनकर उभरीं। अपनी राह में आने वाले मुश्किलों का सामना करते हुए उन्होंने मर्दो की दुनियां में अपना एक मजबूत मुकाम बनाया। ज़ीनत यकीनन आज महिलाओं के लिए एक रोल माॅडल हैं। साॅल्ट माडिया एलएलपी द्वारा निर्मित इस शो से उर्वशी शर्मा शीर्ष भूमिका निभाते हुए टेलीवजिन पर अपनी पारी शुरू करने जा रही हैं। हालांकि कलर चैनल पर प्रसारित हुए खतरनाक स्टंट से भरे रियलिटी शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ की प्रतिभागी भी रह चुकी हैं। इसके अलावा कई फिल्मों में भी अपने अभिनय के रंग बिखेर चुकी हैं। पहली बार ग्लैमर से हटकर नए अवतार में नजर आ रहीं हैं। अपने इस रोल के लिए उर्वशाी को काफी मेहनत की।

शो मे अमन वर्मा जो शेखरन शेट्टी नाम के एक दक्षिण भारतीय डाॅन की अभूतपूर्व भूमिका निभा रहे है। सुपर माॅडल से एक्टर बने शाहवर अली,परवेज़ के रोल में टीवी सोप पर एक वकील के किरदार से अपनी शुरूआत कर रहे हैं,जो ज़ीनत के अघिकारों की लड़ाई में उसकी मदद करते है। फिल्म में नवाब शाह खतरनाक डाॅन हैदर के रूप में टीवी पर वापिसी कर रहे है,इन दिनांे एक अन्य सीरियल ‘नागार्जुन’ में भी काम कर रहे है। इसके अलावा शो में दीपराणा,सोनाली सिंह,जीत वर्मा भी है।

उर्वशी ने बातचीत में प्रेमबाबू शर्मा को बताया ‘ अम्मा का रोल निभाना बेहद खुशी की बात है। टेलीविजन में इस शो में एक सशक्त किरदार मिलना मेरी खुशनसीबी है। ज़ीनत का किरदार बेहद प्रभावी है। एक पत्नी और एक माॅ से लेकर लाखों लोगों के लिए एक उम्मीद कि किरण बनने का उनका सफर एक बढ़िया मानवीय कहानी है। यह कहानी पांच दशकों की हैं,जिसमें मेरे व्यक्तित्व के अलग अलग पहलू नजर आएंगें। इस रोल के लिए मुझे इस किरदार की पृष्ठभूमि और उनकी परिस्थितियों के अलावा उनके व्यक्तित्व की उन खूबियों का गहरा अध्ययन करना पड़ा जिससे वे सत्ता के शीर्ष तक पहुंचीं। मैंने क्रिएटिव टीम के साथ मिलकर बहुत रिसर्च की हैं ताकि हर दृश्य में विश्वसनीयता और सामयिकता लाई जा सकें।

Seema Thakur Gupta honored with Sashakt Nari Parishad Award


Seema Thakur Gupta honored with Sashakt Nari Parishad Award 2016 by Some dignitaries. The program was jointly organised by Deepa Antil (Sashakt Nari Parishad) and Sushma Garg,Poonam matia (Writer, Anchor & poetess) along with other renowned politician and social worker on women empowerment at Vishwa Yuvak Kendra, Chanakyapuri, New Delhi. In which woman from different fields were honored for contributing their services to their society and bravery. Seema Thakur Gupta is a renowned Fashion Photographer, Photojournalist, Actress, Model and also a Secretary of Anti Corruption Group from Shadara District.

डाटाविंड ने मोरजीमैक्स की नई रेंज़ लांच कर 4 जी टैबलेट मार्केट में कदम रखा

प्रेमबाबू शर्मा

डाटाविंड ने एक नया ब्राण्ड मोरजीमैक्स 4 जी 7 लांच करने के साथ 4 जी टैबलेट मार्केट में कदम रख दिया है। कम कीमत के इंटरनेट डिवाइस और वेब सुविधा देने वाले डिवाइस सेगमेंट में सबसे आगे डाटाविंड के अन्य उत्पाद - युबिस्लेट टैबलेट, ड्राॅयडसर्फर नेटबुक और पाॅकेट सर्फर स्मार्टफोन काफी सफल एवं लोकप्रिय रहे हैं। कम्पनी का मोरजीमैक्स ब्राण्ड 4 जी के तहत पेष पहला प्रोडक्ट उम्दा होने के बावजूद कम कीमत, केवल 5,999रु. का है।

इस लांच पर डाटाविंड के प्रेज़िडेंट एवं सीईओ श्री सुनीत सिंह तूली ने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य इंटरनेट से अछूते अरबों लोगों को इससे जोड़ना है। अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए हम भारत में 4 जी लागू करने की मुहिम में लगे हैं। टैबलेट कैटेगरी की प्रमुख कम्पनी होने के नाते हम चाहते हैं कि उम्दा तकनीकी अविश्वसनीय दाम पर उपलब्ध कराएं। इसके पूर्व के टैबलेट की तरह इसमें भी फीचरों का सही तालमेल है और यह सफर में इंटरनेट की बेजोड़ सुविधा देगा। अपनी किस्म का पहला 7 इंच वाला यह 4 जी प्रोडक्ट सभी को चैंका देगा। बाजार के अन्य प्रोडक्ट को 20 प्रतिशत से अधिक के फासले से पछाड़ देगा।’’

कम कीमत के 4 जी टैबलेट मोरजीमैक्स 4 जी 7 में 7 इंच का मल्टी-टच प्रोजेक्टिव कैपेसिटिव स्क्रीन डिस्प्ले के साथ 1024 गुणा 600 पिक्सेल का शानदार रिज़ाॅल्यूशन है। इसके आगे 0.3 एमपी का फ्रंट फेसिंग कैमरा है पीछे 3 एमपी का कैमरा है। इसका एंड्रायड 5.1 आॅपरेटिंग सिस्टम एक क्वाड कोर काॅर्टेक्स ए 7 प्राॅसेसर पर काम करता है। टैबलेट में 23 जीबी तक एक्सपेंडेबल मेमोरी है। वाई-फाई, हाॅटस्पाॅट, वाई-फाई डायरेक्ट, ब्ल्युटुथ और जीपीएस जैसे फीचर भी हैं।

श्री तूली ने बताया, ‘‘आज भी भारत की अधिकांष आबादी इंटरनेट से नहीं जुड़ी है। लेकिन इंटरनेट से जुड़ने के लिए सस्ता डिवाइस मिलना ही काफी नहीं है। हमें कनेक्टिविटी के मामले में भी लोगों को ऐसा प्रोडक्ट देना होगा जिससे जन-जन को इंटरनेट से जुड़ने का सपना सच हो। डाटाविंड के सभी डिवाइस के साथ हम इंटरनेट की असीम षक्ति देते हैं। हम यह सुविधा रिलायंस कम्युनिकेषंस के नेटवर्क पर देते हैं और इसके लिए कोई अतिरिक्त खर्च नहीं लगता है।’’

टैबलेट में वाॅयस काॅल के साथ-साथ 13 अमेरिकी और अंतर्राश्ट्रीय पेटेंट वाला डाटाविंड का इंटरनेट डेलीवरी प्लैटफाॅर्म है जिसके माध्यम से इंटरनेट सेवा कम दाम पर सुनिष्चित होता है। आप ईडीजीई/ 3 जी/ 4 जी एलटीई आधारित नेटवर्क पर मोबाइल इंटरनेट का बेजोड़ अनुभव ले सकते हैं। इससे बैंडविथ की खपत में 97 प्रतिषत तक कमी आती है। परिणामतः कंजेस्टेड 2 जी नेटवर्क पर 5 से 7 सेकेंड में वेब पेज खुल जाते हैं और 4 जी नेटवर्क पर तो इसकी तेजी और बढ़ जाती है।

GLIMPSE OF AWAKENED CROWN CHAKRA – DHYANYOGI OMDASJI


The Kirlian camera is used to photograph the human aura. There are times when an ordinary camera catches the aura too. It is rare to find such a strong emission of colors of rainbow from the human head as is found in this picture of Dhyanyogi Omdasji. He is a ParamGuru of the Kundalini Maha Yoga Lineage and offers Shaktipat Diksha. He is also famed for his ‘Divine Omdasji Sound Meditation’ or ‘Brahmanad” - a singing which puts the listener into meditative state at once and takes him to samadhi levels and a variety of experiences. These effects of Divine Omdasji sound meditation affect people irrespective of caste, creed, race, sex, religion.

This unique picture of the Great ParamGuru of Kundalini Maha Yoga was taken in Gangotri, Himalayas, in morning when he was doing his prayers to Sun after a dip in the Holy Ganges.

This picture was an inadvertent result of a selfie clicked by a farmer disciple and the picture of Dhyanyogi Omdasji got clicked in background. The 'jagrat' or awakened Sahasrar or Crown Chakra of Dhyanyogi Omdasji is seen here. The white light is dazzling on the crown of the head - reminiscent of the curls of hair we seen on the statue of Buddha or Mahavira. Bands of blue white red blue red blue red are visible passing through his crown like a reverse rainbow! These represent shaktis or powers.

It is almost impossible to have a glimpse of the awakened Sahasrar Chakra of a Great Yogi and the radiating light from within. Very few people are there in the world today with such levels of divine development. We have recently celebrated the International Day of Yoga and must also know about effects of yoga and great Yogis.

For more information about Dhyanyogi Omdasji , please logon to his websites:

www.omdasji.in & www.divineomdasjisoundmeditation.com

His teachings can be found in http://omdasji.blogspot.in

Saturday, June 25, 2016

Join Live: Mann Ki Baat on 26 June


Click here to HEAR LIVE. 

Actor Tanuj Virwani goes in a Footloose way


Actor Tanuj Virwani who has been very busy lately filming multiple projects and has had to squeeze his schedule in order to spend time with his friends and for himself. Recently Tanuj was seen having blast in Las Vegas and has also shown off his new hairdo an "Angular Fringe Haircut" blonde look that suits the style of the time. The actor posted a photo of her edgy new undercut after doing the "One Night Stand" one of the most hotly anticipated film in years thanks to an all-star cast consisting of Actress Sunny Leone. The angular fringe has emerged a trend. Tanuj hair style shows how the asymmetrical line of this haircut is insanely beautiful: it’s absolute, strongly conceptual and it enables you to play with your hair in a funny way. In fact, the hair must be longer with a short side, and you can do a different kind of hairstyle with this cut. As Tanuj was not alone on his vacation, he was seen spending his time and shaking his leg on the steps of none other than the Step Up series choreographer Jamal Terry Sims. Jamal has worked on nearly 32 films including films like Footloose and Step Up 1-5. He has also worked with artists like Miley Cyrus, Madonna, Jennifer Lopez and Britney Spears to name a few. Jamal Terry – Sims has been roped in to compose dance moves for a special song in the film which features Shruti Haasan performing mind blowing steps.

Tanuj said, " It's been a fabulous experience observing and learning from Jamal. He's the most down to earth and chilled out guy . And his entire dance troupe was beyond fantastic this song is going to be a chartbuster."

Legendary actor Kamal Haasan is making a film with his daughter Shruti Haasan while Tanuj Virwani and Akshara Haasan are assisting him in Los Angeles.

VERSATILE ACTRESS APARA MEHTA JOINS BIG MAGIC’S NAYA MAHISAGAR AS THE NEW DADI SAAS

Prembabu Sharma​

National: BIG Magic’s shows have been successful in keeping the balance between their entertainment quotient and experimentation, when it comes to viewers. One such show is Naya Mahisagar, a family drama depicting the quintessential ‘Saas-Bahu’ relationship in the most enjoyable way. The characters have struck an emotional chord with the viewers, be it the bubbly daughter-in-law Mahi or the savvy politician mother-in-law Anusuya or the affable Dadi Saas. Apara Mehta, who has been a household name for years has created a deep connect with her fans, playing myriads of characters in a number of serials. Watch her as the new ‘Dadi Saas’ on the show. Catch the episode filled with fun, fantasy and humour from Monday to Friday at 7:30 pm and 9:30 pm on BIG Magic.

Speaking about her new character, Apara Mehta said, “I am delighted to be a part of BIG Magic’s Naya Mahisagar. The show has managed to strike an emotional chord with audiences and I am glad to be a part of such a show. I am playing the character of ‘Dadi Saas’ who is a spirit in the show but has a very strong hold on her family. This character is something new to me and I am really excited to see the viewers reaction on my new avatar.”

French European Indian Organization launched in Paris

The aim of French European Indian Organisations is to promote entrepreneurship and facilitate industrial growth as trade and industry form an integral part of economic development of the country and for any Organization assisting them to network within the country and overseas for strategic partnerships either technical or commercial or in the terms of businesses, corporate houses, organizations, government agencies, Consulates or Embassies. Recently French European Indian Organization had a soft launch at the Indian Embassy in Paris, Which was inaugurated by The Ambassador of India Dr. Mohan Kumar, The Minister (Consular) Pankaj Saxena, First Secretary (Press& Culture) Lavanya Kumar and First Secretary (Community Affairs) Dheeraj Mukhia. Speaking on this occasion, Mr. Satish Reddy, President of the French European-Indian Organization said that “I am happy to be in this organization as there will more than ten lakhs members registered in Europe comprising a cross-section of the business community with us as this will help them to have bilateral trades with France, Europe, and India where they get a chance to interact with each other and we are also planning members in India also. FEIO plays an advocacy role on a wide range of matters and acting as an impetus to growth and development of businesses, on policy and implementation matters." Vice President of FEIO Ms. Jasmine Marecar expressed hope that presence of Mr. Satish Reddy in India will allow the association in promoting cultural and economic relations between India and France.
First Cultural Secretary Mr Lavanya Kumar, Vice President Ms Jasmine Marecar,
 Ambassador Of India Dr Mohan Kumar, President Satish Reddy With Minister Of Consulate Pankaj Saxena

After talking about the relationship and opportunity Satish Reddy further added about his organization and his goals. " French European Indian Organization is based in Paris. It registered at "Préfecture du Val-de-Marne" in France. It caters to the Social, Economic and cultural activity. The Aim is to get all the people from Indo-France and Europe in terms of peace and Harmony. France-Indian relationship has become increasingly strategic, even as one could argue that it has yet to realize its full economic potential. FEIO wants to play a bridge to get cultural tie-ups and business opportunity for France and the European community between them and Indian people. To promote the destination of both the countries as they could get a tourism boost The cultural activities also let people get familiar regarding their traditions and food habits. FEIO aim is to get maximum people to join this association and build a human chain and bridge in one platform" he added.

Indian Ambassador Dr. Mohan Kumar appreciated the aim and vision of FEIO and said, "It is very good that the organization is getting both the countries together as the members and its community can help the world and India to grow bigger." He emphasized the role of Indo-French friendship associations in promoting people to people contacts and cultural relations between India and France.

‘कॉमेडी नाइट्स लाइव’ में अश्लीलता तो है

प्रेमबाबू शर्मा

कलर्स चैनल पर ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ के शो की जगह लेने वाला शो ‘कॉमेडी नाइट्स लाइव’ जल्द बंद हो सकता है। शो बंद करने का फैसला ऑडियंस की गिरती रेटिंग्स को ध्यान में रखकर लिया गया है। अब मुकाबले के लिए मैदान में कपिल शर्मा भी उतर चुके हैं इसलिए गिरती रेटिंग्स को रोकने का कोई जरिया नहीं है।

शो ‘कॉमेडी नाइट्स लाइव’ फेमस शो ‘बिग बॉस 10’ से रिप्लेस होगा। हालांकि अभी तक चैनल की तरफ इसे लेकर कोई अधिकारिक घोषणा नहीं की गई हैं। दूसरी तरफ एक इंग्लिश वेबसाइट की खबर के मुताबिक, कृष्णा अभिषेक ने शो बंद होने से जुड़ी खबरों को नकार दिया है। उन्होंने साथ ही यह भी आरोप लगाया है कि दूसरी पार्टी (कपिल शर्मा और उनकी टीम) ऐसी अफवाहें उड़ा रही है। कृष्णा ने शो बंद होने की खबरो को हलके में लिया और यह भी साफ कर दिया कि उनका शो बंद नहीं हो रहा। 

दूसरी तरफ जब शो के बारे में कुछ लोगों की राय जानने की कोशिश की तो अधिकांश लोगों का कहना था कि यह बहुत अभद्र भाषीय और अश्लीलता पूर्ण शो है,जिसे परिवार के साथ बैठकर नही देख सकते । जबकि कुछ लोगों ने इसे कामेडी से परिपूर्ण है ।

Vishwa Yuvak Kendra (VYK) organized l training programme on ‘Fund Raising’



This is the fact that fundraising is the lifeline activity for any NGO, yet it is the most challenging task for us all. This is because there are so few resources available and too many seekers reaching them out. In such cases, only organizations that are competitive, responsive and creative succeed. But to be competitive, responsive and creative, it is important to become professional enough. Professionalism is about applying high business tactics to survive the growing competition all over the world.

Nonprofit fundraising is becoming increasingly challenging and volatile owing to mushrooming of NGO’s, changes in the criteria being used by the donors, increasingly selective specific measurable outcomes or impact, innovation in good ideas on problem solving (cutting edge) programmes/ initiatives that fit into their own programmes, requisite transparency and accountability.

Taking the above ground realities into account Vishwa Yuvak Kendra (VYK) organized a four day national level residential training programme on ‘Fund Raising’ during 21 to 24 June 2016 at its Office premises, Chanakyapuri, New Delhi. The programme attracted a healthy participation by the senior and midldle-level 65 representatives of 50 grass root NGOs, CSOs and non-profit organizations belonging to 12 states and UTs of India comprised of Bihar, Jharkhand, Uttar Pradesh, Uttarakhand, Rajasthan, West Bengal, Odisha, Madhya Pradesh, Karnataka, Maharashtra, Gujarat and Delhi-NCR. All the lodging and boarding facilities were provided with the participants by VYK at the hostel of its office premises.

All the trainees were imparted excellent training on fund raising through the eminent resource persons and seasoned professionals called from renowned national and International developmental organizations, donor agencies, and leading corporate groups. The key resource persons other than VYK’s senior officials who addressed the trainees on diversified areas of fund raising by the NGOs during the tenure of the training programme include.

Mr. Karthik Ayer, Deputy Head, Strategic partnership, Charities Aid Foundation,
Mr. Arun Thangapandian, Manager – Fund Raising Operation, Save The Children,
Ms. Yasmin Riaz, National Head, SOS India, Ms. Sandhya, Senior Manager-Institutional Tie-up, Action Aid India,
Ms. Geetanjali Gaur, Programme Executive (CSR), National Foundation for Corporate Social Responsibility (NFCSR), Indian Institute of Corporate Affairs (IICA) and
Ms. Susan Verghese, Head, Global Operation, CRY- Child Rights & You.

This programme was well appreciated by all the participants for its course contents. They assured to utilize the learning and knowledge attained during the programme towards raising the fund for their respective organizations in order to scale up the existing as well as new developmental programmes in operational areas.

महामृत्युंजय मन्त्र के जाप से लाभ

 गीता 

शिव तत्व
विश्व भर में जो मूल प्रकृति ईश्वरी शक्ति है , उस प्रकृति द्वारा पूजित देव शिव कहलाते हैं . “ शि ” का अर्थ है पापों का नाश करने वाला और “व ” कहते हैं मुक्ति देने वाले को . शिव में दोनों गुण हैं . शिव वह मंगलमय नाम है जिसकी वाणी में रहता उसके करोड़ों जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं . शिव शब्द कल्याणकारी है और कल्याण शब्द मुक्तिवाचक है . यह मुक्ति भगवान शंकर से प्राप्त होती है अतः वे शिव कहलाते हैं . भगवान शिव विश्वभर के मनुष्यों का सदा “शं ” या कल्याण करते हैं और कल्याण मोक्ष को कहते हैं इसलिए वे शंकर भी कहलाते हैं .

शिव अखंड , अनंत , निर्विकार , चिदानंद, परमात्मा तत्व हैं . जो अनन्त अन्तःकरणों माया भेद में प्रतिबिम्बित होते हैं. अंतःकरण गत प्रतिबिम्बित ही जीव कहलाता है और मायागत प्रतिबिम्बित ही ईश्वर कहलाता है .

शिव ही समस्त प्राणियों के अंतिम विश्राम के स्थान हैं . अनंत पापों से उद्गिन होकर विश्राम के लिए प्राणी जहाँ शयन करे, उसी सर्वाधिष्ठान , सर्वाश्रय को शिव कहा जाता है .

जागृत , स्वप्न और सुषुप्ति तीनों अवस्थाओं से रहित , सर्व दृश्य , विवर्जित, स्वप्रकाश, सच्चिदानंद परब्रह्म ही शिव तत्व है . शिव ही परम शिव और दिव्य शक्तियों को धारण कर अनंत ब्रह्मांडों का उत्पादन, पालन और संहार करते हुए ब्रह्म, विष्णु शंकर आदि संज्ञाओं को धारण करते हैं .


मृत्यु और अमृत तत्व
जब शरीर निश्चेष्ट हो जात है और उसमें चेतन का कोई भी लक्षण नही रहता है तो हम कहते हैं की उसकी मृत्यु हो गई है . स्थूल शरीर से सूक्ष्म शरीर का अलग हो जाना ही मृत्यु है . मृत्यु के उपरांत जीव नया शरीर धारण करता है . वर्तमान शरीर को त्याग कर शरीरांतर ग्रहण करने पर भी जिन्हें पूर्व जन्म की स्मृति बनी रहती है उनकी मृत्यु , मृत्यु नहीं कही जाती है क्योंकि उनके ज्ञान की सन्तति विच्छिन्न नही होती है . उन्हें “इच्छा मृत्यु ”या “अमर ”आदि नामों से भी पुकारा जाता है . उन्होंने अमृत तत्व का लाभ कर लिया होता है . नए - नए शरीर में प्रवेश करने पर भी उनका ज्ञान और पूर्व जन्म की स्मृति लुप्त नही होती है . वे “जाति – स्मर ” कहलाते हैं .

अज्ञान युक्त देहादि प्रकृति के परिवर्तन के साथ “मैं ” भी परिवर्तित हो रहा हूँ , इस प्रकार का ज्ञान होना ही अज्ञान है . परिवर्तन का नाम ही मृत्यु है और इससे विपरीत ज्ञान की , प्रकृति के परिवर्तन के साथ मेरा परिवर्तन नहीं होता है , यही ज्ञान ही अमृत तत्व है . परिवर्तन शील “मैं ” के अन्दर एक नित्य स्थिर “मैं ” है जिसका परिवर्तन नहीं होता है , जो इन सारे परिवर्तनों का साक्षी है और उन्हें परिवर्तन रूप से जानता है .

ऐसे मुक्त- पुरुष संसार के बंधन से मुक्त हो जाने पर जीवों के कल्याण हेतु एक या अधिक बार शरीर धारण कर जगत में आवागमन करते हैं . ये लोग मृत्यु तथा प्राण तत्व पर विजय प्राप्त किये रहे हैं और मृत्यु इनके वशवर्ती रहती है. अमृत्व तत्व धारण करने के कारण ये सदा नित्य , ज्ञानमय और आनंदमय भाव में अवस्थित रहते हैं.

महामृत्यंजय मन्त्र

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॥

हम तीन नेत्रों वाले भगवान शिव की अराधना करते हैं, जो प्रत्येक श्वास में जीवन शक्ति का संचार करते हैं, जो सम्पूर्ण जगत का पालन-पोषण अपनी शक्ति से कर रहे हैं. उनसे हमारी प्रार्थना है कि वे हमें मृत्यु के बंधनों से मुक्त कर दें, जिससे मोक्ष की प्राप्ति हो जाए. जिस प्रकार एक ककड़ी अपनी बेल में पक जाने के उपरांत उस बेल-रूपी संसार के बंधन से मुक्त हो जाती है, उसी प्रकार हम भी इस संसार-रूपी बेल में पक जाने के उपरांत जन्म-मृत्यु के बन्धनों से सदा के लिए मुक्त हो जाएं, तथा उनके चरणों की अमृतधारा का पान करते हुए शरीर को त्यागकर आप ही में लीन हो जाएं .

महामृत्युंजय शिव
मृत्यु पर जय प्राप्त करने वाले और अमृत का लाभ करने वाले मृत्युंजय हैं . शास्त्रों में मृत्युंजय महादेव के ध्यान के जो श्लोक मिलते हैं उनमें वेदोक्त त्र्यम्बक मन्त्र से मृत्युंजय शिव का स्वरूप जाना जा सकता है . भगवान मृत्युंजय के जप ध्यान की विधि मार्कंडेय , राजा श्वेत आदि के काल भय निवारण की कथा शिवपुराण , स्कन्ध पुराण , काशी खंड, पद्मपुराण आदि में आती है . आयुर्वेद ग्रंथों में मृत्युंजय - योग मिलते हैं .

महामृत्युंजय शिव का स्वरुप
त्र्यम्बकं शिव अष्ठभुज हैं . उनके एक हाथ में अक्षमाला और दुसरे में मृग - मुद्रा है , दो हाथों से दो कलशों में अमृत रस लेकर उससे अपने ऊपर मस्तक को आप्लावित कर रहे हैं और दो हाथों से उन्हें उन्होंने अमृत कलशों को थामा हुआ है .

दो हाथ उन्होंने अपने अंक पर रख छोड़े है और उनमें दो अमृत पूर्ण घट है . वे पद्म पर विराजमान है , मुकुट पर बाल चन्द्र सुशोभित है जिसकी अमृतवृष्टि से उनका शरीर भींगा हुआ है , ललाट पर तीन नेत्र शोभायमान हैं , उनके वाम भाग में गिरिराजनान्दिनी उमा विराजमान हैं . ऐसे देवाधिदेव श्री शंकर की हम शरण ग्रहण करते हैं.

शिव सदैव अमृत रूप हैं और अमृत में ही सराबोर रहते हैं .

मृत्युंजय शिव का आध्यत्मिक रहस्य
अमृत प्रवाह नाडी, स्पंदन अथवा गति के सूचक है . जिन दो धाराओं के द्वारा शिव अपने मस्तक को सदा आप्लावित करते हैं , वे गंगा - यमुना, सूर्य - चन्द्र के प्रवाह की इड़ा और पिंगला नाडी है, जो रज और तम की वाचक हैं . इन्हीं दोनों शक्तियों के कारण ही जगत की जागतिक क्रिया कलाप होते हैं . जब दोनों शक्तियाँ साम्यावस्था में होती हैं तो तभी प्रकृति -ज्ञान रूप का या सरस्वती का प्रवाह दृष्टिगत होता है, यही सुषुम्ना अथवा विशुद्ध सत्त्व है .

त्र्यम्बकेश्वर शिव के महा मृत्युंजय मन्त्र के जाप से इन दोनों धाराओं को शुद्ध और समन्वित कर मध्यम स्थित सुषुम्ना को जागृत कर विशुद्ध सत्त्व तत्व की प्राप्ति की जा सकती है . ऐसे जातक जगत के परिवर्तन अथवा मृत्यु के राज्य से त्राण पा लेते हैं .

महामृत्युंजय मन्त्र के जाप से लाभ
मृत्युंजय शिव संसार की समस्त औषधियों के स्वामी, मृत्यु के नियंत्रक , आरोग्य और स्वास्थ्य के प्रदाता हैं . इस जटिल और तनाव युक्त जीवन में इस मन्त्र द्वारा अकस्मित दुर्घटनाओं से जीवन की रक्षा की जा सकती है . रोगों का निवारण भी किया जा सकता है . भाव, श्रद्धा तथा भक्ति से इस मन्त्र का जाप करने पर भयंकर व्याधियों का भी विनाश हो सकता है . यह मन्त्र मोक्ष साधन है और दीर्घायु, शन्ति, धन -संपत्ति , तुष्टि तथा सदगति भी प्रदान करता है .

Friday, June 24, 2016

‘खिड़की अलग तरह का शो - उमेश शुक्ला

प्रेमबाबू शर्मा

फिल्म निर्देशक उमेश शुक्ला, जोकि अपनी फिल्म ‘ओह माय गॉड’ से चर्चित हुये हैं, इसके अलावा ढूढते रह जाओगें,आल इज वेल,फुल एंढ फाइनल जैसी फिल्मों के बाद वर्तमान में आगामी शो खिड़की को लेकर काफी व्यस्त नजर आ रहे हैं। इस शो का प्रसारण सब टीवी पर किया जायेगा और इसका निर्माण उमेश, जेडी मजेठिया और आतिश कपाड़िया द्वारा किया गया है।

यह साप्ताहिक एपिसोडिक सीरीज दर्शकों द्वारा भेजी गई असली जिंदगी की मजेदार कहानियों से प्रेरित है। एक साक्षात्कार में शुक्ला ने हमारे साथ अपना अनुभव साझा किया प्रस्तुत है प्रेमबाबू शर्मा से मुलाकात के अंशः
क्या आपको अपने शो के लिए दर्शकों से कई कहानियां मिली हैं?
हमने कभी उम्मीद नहीं की थी कि हमें महज दो महीनों में लोगों से 7,600 कहानियां मिलेंगी। हमारे पास अच्छे लेखकों की एक टीम है जिन्होंने कहानियों का चुनाव किया। इस शो की परिकल्पना तैयार करने का सबसे अच्छी बात यह है कि यह सभी असली जिंदगी की कहानियां हैं और आप इस निष्कर्ष पर पहुंचेंगे कि ‘सच्चाई फिक्शन की तुलना में अनजान होती है।‘ सभी के लिखने का अंदाज एकदम निराला है।

इनमें से कितनी कहानियों को एपिसोड में बदलने में सक्षम हुये हैं?
जब जेडी मजेठिया ने मुझसे कुछ अलग हटकर करने के लिए संपर्क किया, तो मुझे लगा कि वह जोखिम उठाने के लिए तैयार हैं। हमें कई ऐसी कहानियां मिली जिन्होंने हमारे दिल को छुआ और हमें हंसने पर मजबूर किया। कुछ ऐसी चैंकाने वाली कहानियां भी थीं जिन्हें हमने एपिसोड में तब्दील किया और अब वे काफी हास्यप्रद लगती हैं।

क्या आपको प्राप्त कंटेंट को शाॅर्टलिस्ट करने में किसी मुश्किल का सामना करना पड़ा?
जब कोई अपनी जिंदगी की कहानी भेजता है, तो यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि उसे ऐसे नहीं देखना चाहिये जैसे आप उसके अनुभव का मजाक उड़ा रहे हों। लेकिन हम अपने लेखकों की वजह से यह अंतर भरने में सफल रहे। कुछ लोगों ने महज 1-2 लाइनों में अपनी कहानियां भेजी, और ऐसी कहानी को 2-3 एपिसोड में परिवर्तित करना कठिन था। उदाहरण के लिए, रेगुलर शो में हर बार एक ही सेटिंग होती है लेकिन हर नई कहानी के साथ, सेटिंग में बदलाव करना पड़ता है।

आप एक अभिनेता भी है?
जी हाॅ,जबान संभाल के ,किस किस की किस्मत में भी काम किया है। इसलिए मैं कहानी और कलाकारों के साथ न्याय करने का प्रयास करता हॅू।

इंडिया किड्स फैशन वीक ग्रैंड शो


प्रेमबाबू शर्मा

इंडिया किड्स फैशन वीक के चैथे संस्करण में डिजाइनरों शानदार किड्स कलैक्शन से दर्शकों को चकित कर दिया। मैक्स के सहयोग व क्राफ्टवल्र्ड ईवेंट्स और ईवेंट कैपिटल ने मिलकर इसका आयोजन ऐम्बियेंस माॅल में हुआ। इस शो में जानेमाने परिधान ब्रांडों मैक्स, राग, किलकारी, लिटल फेबल, 612 लीग, लिटल कोटूर, माय लिटल बैरी, पोनी और गैप किड्स के शानदार कलैक्शन दर्शाए गए। कार्यक्रम के पहले दिन मशहूर हस्तियों और जानेमाने डिजाइनरों से मौजूदगी दर्ज की जिन्होंने नन्हे फैशन आइकाॅन के साथ रैम्प पर वाॅक किया।

पहले दिन मशहूर ऐपेरल ब्रांड मैक्स ने स्प्रिंग समर कलैक्शन प्रदर्शित किया जो समुद्र, मोतियों और सीक्विन की कहानियों से प्रेरित था। इस कलैक्शन में सुंदरता के साथ खुशनुमा और प्रेरणादायी रंगों का बखूबी इस्तेमाल किया गया जैसे रस्ट, आॅरेंज, कोबाल्ट, सनशाइन यैलो, पेस्टल आदि। लड़के जंगल बुक थीम की टीशर्ट पहन कर रैम्प पर चले। ’तारे ज़मीन पर’ फेम दर्शील सफारी मैक्स के शो-स्टाॅपर थे, उन्होंने नीले रंग की वैकेशन स्टाईल टीशर्ट नीली डेनिम के साथ पहनी थी। उनका काॅस्टयूम गर्मियों के लिए उबर कैजुअल लुक लिए हुआ था।

राग के कलैक्शन में एक कूल, अर्बन भारतीय लड़की की छवि पेश की गई जिसे ऐथनिक व पार्टी वियर वैस्टर्न परिधान एक समान रूप से पसंद हैं। इंडिया किड्स फैशन वीक में राग के शो ने स्टेज पर पूरी तरह नई कहानी का ताना-बाना बुना। मीडिया का ध्यान आकर्षित करने वाली कहानी की शुरुआत एक मां से होती है जो मंदिर में है और पिता मैच देखने के लिए तैयार हो रहे हैं और बाद में कहानी इस नोट पर समाप्त होती है कि नन्ही लड़कियां पार्टी वियर स्मार्ट गाउन में दिखाई देती हैं। इस प्रकार इस कलैक्शन में ऐथनिक वियर, कैजुअल वियर और फिर पार्टी वियर सभी घटक शामिल हैं।

ऐपेरल ब्रांड किलकारी ने बच्चों के लिए जो कलैक्शन पेश किया उसमें पश्चिमी और भारतीयता का उम्दा तालमेल था। इसमें ब्राइट पिंक, फ्लोरसेंट ग्रीन्स और टैंगी आॅरेंजिस जैसे विविध रंग लिए हुए खूबसूरत काॅस्ट्यूम शामिल थे। ब्रांड ने ऐथनिक सैगमेंट में 11 से 15 साल के लड़कों व लड़कियों के लिए अपना ट्वीन्स कलैक्शन प्रस्तुत किया जो विभिन्न रंगों और आकर्षक डिजाइनों से भरपूर था और हर बच्चे के व्यक्तित्व पर खूब फब रहा था।

’’अपने गले में हीरे पहनने के बजाय मैं अपने बालों में फूल पहनना पसंद करूंगी’’, अ लिटल फेबल ब्रांड ने इंडिया किड्स फैशन वीक में प्रदर्शित अपने खूबसूरत कलैक्शन में बच्चों के स्वतंत्र स्वभाव को अभिव्यक्त किया। बच्चे फूलों व तितलियों जैसे सरल व सहज किंतु कमाल की चीजों में खुशियां और मुस्कान खोज लेते हैं और लिटल फेबल ब्रांड भी यही भाव प्रस्तुत करता है।

विंटर वियर से लेकर कैजुअल वियर और पार्टी वियर तक 612 लीग द्वारा प्रदर्शित सभी कलैक्शंस में बच्चे बहुत प्यारे लग रहे थे। ये नन्हे स्टाईल आइकाॅन सुंदर प्रिंट्स, विषम पैटर्न व कोमल डिटेल वाले वस्त्र पहन कर खूब स्टाईल में रैम्प पर चले।

बच्चों के क्लोदिंग ब्रांड लिटल कोटूर ने पारंपरिक और वैस्टर्न आउटफिट्स के क्लासिक पिसिस का कलैक्शन पेश किया। ये हैं मोहब्बतें फेम बाल कलाकार रूहानिका धवन फ्लोर लैंग्थ ड्रैस में बहुत खूबसूरत व प्यारी लग रही थी, उनका परिधान गाउन और लाँग फ्राॅक का मिश्रण था। उनकी पूरी ड्रैस में ऐम्बैलिशमेंट्स थीं और रैम्प पर उनका आत्मविश्वास देखते ही बनता था। रूहानिका लिटल कोटूर के लिए शोस्टाॅपर के तौर पर रैम्प पर आईं थीं।

Monthly Havan & Pravachan at Kamdenu Gowdham on 26th Junel


कामधेनु गोधाम हर महीने मासिक हवन एवं प्रवचन का आयोजन करता है। इस माह का हवन एवं प्रवचन मुख्य अतिथि माननीय “श्री सुधीर जी” प्रांत प्रचारक RSS, हरियाणा, पूजनीय “स्वामी विवेकानन्द जी”, परमाध्यक्ष स्वामी भक्तिस्वरूपानन्द गौ सेवा न्यास पर्णकुटी आश्रम, गुरुग्राम हरियाणा एवं “श्री मणि राम शर्मा जी” IAS, उपायुक्त, मेवात अन्य महानुभवोंकी उपस्थिति में कामधेनु गोधाम, बिस्सर-अकबरपुर में रविवार 26 जून प्रात: 9:00 बजे किया जाएगा I

सब की ‘खिड़की‘ 28 जून को खुलेगी

प्रेमबाबू शर्मा

हमें अपनी मजाकिया कहानी बतायें और दुनिया भर में टेलीविजन पर उसे जीवंत बनायें। सोनी सब द्वारा अब अपने नये शो खिड़की के माध्यम से दर्शकों की जिंदगी के असली मजाकिया किस्सों को दिखाया जायेगा। शो की अवधारणा देश भर के दर्शकों द्वारा भेजी जाने वाली कहानियों पर आधारित है। इनमें से कुछ चुनिंदा कहानियों को छोटे पर्दे के लिये मिनी-सिरीज के एपिसोड्स के रूप में रूपांतरित किया गया है। खिड़की का प्रसारण सोनी सब पर मंगलवार, 28 जून 2016 से प्रत्येक सोमवार से शुक्रवार रात 9ः30 बजे किया जायेगा। 

चैनल ने प्रसिद्ध टेलीविजन निर्माता जेडी मजेठिया और बाॅलीवुड निर्देशक उमेश शुक्ला के साथ साझेदारी की है। गौरतलब है कि उमेश ओह माय गाॅड! फिल्म के निर्देशक हैं। चैनल द्वारा मार्च 2016 में इस शो के लिये प्रविष्टियां मंगाई गई थीं। चैनल को कुल 8000 से अधिक प्रविष्टियां मिलीं और इनमें से कुछ कहानियों को चुना गया, जोकि अब दुनिया के सामने प्रस्तुत होने के लिये तैयार हैं।

शो में कई प्रमुख कलाकार मौजूद होंगे, जैसे कि सरिता जोशी, राजीव मेहता, लुबना सलीम, ऐश्वर्या सखूजा इत्यादि। ये कलाकार विभिन्न कहानियों में अलग-अलग किरदारों को निभाते नजर आयेंगे। इन कहानियों को जेठी मजेठिया द्वारा सुनाया जायेगा, जोकि शो के होस्ट भी हैं। प्रत्येक कहानी को एपिसोड्स में बुना गया है और प्रत्येक कहानी को उनकी लंबाई के आधार पर तीन से आठ एपिसोड्स में पूरा किया जायेगा।

अनूज कपूर, सीनियर ईवीपी और बिजनेस हेड, सब टीवी ने जानकारी देते हुए कहा कि
‘‘सब टीवी में हम हमेशा अपने दर्शकों के लिये अनूठे कार्यक्रमों को पेश करने का प्रयास करते हैं। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से हम भारतीय परिवारों के लिये अपनी मजाकिया कहानियों को दुनिया के सामने बयां करने का द्वार खोल रहे हैं। सब टीवी द्वारा इन कहानियों के लिये एक मंच उपलब्ध कराया जायेगा, जिसमें प्रत्येक सप्ताह इस तरह की एक कहानी दिखाई जायेगी।‘‘

AIFF expresses surprise and regret

The All India Football Federation expressed regret and surprise over the sudden decision of Salgaocar SC and Sporting Clube de Goa to exit the I-League.

Terming it as a knee jerk and speculative reaction AIFF General Secretary Mr. Kushal Das said: “We along with our Marketing partners have been very transparent sharing our thoughts with all stakeholders regarding the way forward for Indian Football. It was clearly stated that the shared draft was only a proposal ad we would like suggestions from various stakeholders. The AIFF has been receiving various suggestions and the last one was received only a week back.”

“Since it involves setting the roadmap for Indian Football every aspect needs to be carefully considered. So the assumption made by the Clubs that AIFF has not responded is presumptuous and speculative.

He also added that while “there is no denying the contribution made by the Clubs who have been associated with Indian Football for a long time, it was also evident that they were unable to create fan base to sustain themselves.”

“The purpose of the proposal was to enable Clubs to create a sustainable model for the future which has unfortunately been wrongly interpreted by some of the Clubs,” he further stated.

Reacting to the allegations of the Clubs about financial matters, Mr. Sunando Dhar, CEO, I-League said: “The amount for fielding age-group sides in the respective competitions of AIFF which were pending since 2008, was agreed in an I-League committee meeting that the same would be adjusted against the I-League participation fees. This has been in practice for the last 3-4 years.”

"Celebration of Passion in Art" on Saturday 25th June


International Chamber of Media and Entertainment Industry in Collaboration with Delhi Diary's Art Lounge invites you to a group show "Celebration of Passion in Art" on Saturday 25th June 2016, 6:30 pm to 9:30 pm D-20 South Ex Part 1.

Renowned artist and curator Dr. Aarti Makkar informed Dwarka Parichay that "CELEBRATION OF PASSION IN ART" is a new chapter in the field of art and culture. It is an effort where we has a beautiful message to convey the characteristic's of life in more prominent way.


Thursday, June 23, 2016

Seminar On" Climate Change " by SWEDWA on 28th June

Seminar On" Climate Change " by SWEDWA on Tuesday 28th June At 10.30 am at. Dwarka Hello Moms an affiliated branch Balmiki Choupal opp Bharadwaj Vatika Pochanpur sec 23 Dwarka Delhi

Speakers on the Day
Key note Address : Ms Kalyani Raj Member In charge AIWC

Ms Swarnalata. Technical Writer and Editor ..Research and Advocacy on Environmental Issues . Formerly Scientist &Flight Lieutenant lndian Air Force.

Mr Jk Mehta. ExChairmen .World Energy Council

Ms.MaliniRajendran..Chairperson MIE.COFT

Ms Usha Ragupati Professor National Inst of Urban Affairs

Shyamala Mani Energy /Public Health Specialist Life Member AIWC.

Followed by snacks.

Janasamskriti Dwarka Organisational Class & Discussion


One Drop Cinemas One Minute Film Competition winners

Drop Dead Foundation, to raise awareness on water conservation had organised a ​'​One Minute
​Film ​Competition' on World Water Day on March 22nd. The Honourable Judges were Mr Amole Gupte, Ms Juhi Chawla and Mr Subhash Kapoor.

A big thank you to everyone for participating, for your efforts, harwork and making this a success. This campaign has exceeded our expectations.

The short films were so inspiring that our Honourable Judge Ms Juhi Chawla has also selected 5 entries for a cash prize of Rs5000 each, and Dainik Bhaskar will also announce a winner for a Rs50,000 cash prize!!!

On behalf of One Drop Foundation, One Drop Cinema, and Dainik Bhaskar
The winners of the One Minute Film Competition are -

3) The third winner for the prize of Rs50,000 is Manish Khanna- Paani
2) The Second winner for the prize of Rs75,000 is Dhimant Vyas- Every Drop Counts
1) For the top prize of 1 lac the winner is Ashok Chouhan - Tap the Tap


JUHI CHAWLA CHOICE prize winners are
1) Rajesh Zeal- Save water
2) Aashay Jadhav- Save Water
3) Jitendra Pawar - Then What
4) Manuj Kathuria - Save Water! Save Life!
5) Shruti Mokashi - Shantabai and Kantabai

Big thank you to our Honourable Judges
Mr Amole Gupte,
Ms Juhi Chawal, and
Mr Subhash Kapoor
for supporting us and being a part of our competition.

Big thank you to Drop Dead Foundation, One Drop Cinema, Dainik Bhaskar, Mr Aabid Surti, Mr Aalif Surti, Mr Navrouz Surti andEventGuru team.

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: