Search latest news, events, activities, business...

Thursday, March 24, 2016

​स्टार्ट, मैनेज और एक्सपेंड 2016 दिल्ली आया

P N Vijay (Religare) & Sandeepan Ray (SMB Director)

प्रेमबाबू शर्मा


देश भर के लघु और मध्यम उद्यमों (एसएमई) में नॉलेज शेयरिंग प्लेटफॉर्म के तौर पर अपनी स्थिति मजबूत करने के मकसद से एसएमबी कनेक्ट, स्टार्ट, मैनेज और एक्सपेंड की तीसरी सीरीज का आयोजन दिल्ली में हुआ। इसमें इंडस्ट्री के दिग्गजों ने भारत में लघु और मध्यम उद्यमों के मजबूती से उभरने के तरीकों पर एसएमई के प्रतिनिधियों के सामने प्रकाश डाला। बैठक में विचार-विमर्श का मुख्य बिंदु एसएमई के लिए बजट को अलग करना और लघु और मध्यम उद्यमों के लिए कॉरपोरेट सोशल इनवेस्टमेंट (सीएसआई) को अपनाने की पहल करना था। इवेंट में रेलिगेयर इंटरप्राइजेज लिमिटेड के ग्रुप एडवाइजर पी. एन. विजय, डीसीबी बैंक में एसएमई और एमएसएमई के हेड पोर्टफोलियो शंकरन वशिष्ठ, एकेडेमी ऑफ कॉम्पिटेंस एक्सप्लोरेशन के निदेशक आदित्य विद्यासागर, सिंपली एचआर के एमडी रजनीश सिंह और आईएटीओ के अध्यक्ष सुभाष गोयल शामिल हुए।

एसएमबी कनेक्ट के निदेशक श्री संदीपन रॉय ने कहा कि ‘हम दिल्ली में एसएमई 2016 का आयोजन कर काफी प्रसन्न हैं। इससे लघु और मध्यम उद्यमियों के कारोबारियों को पूरे भारत में अपने बिजनेस का बेहतर भविष्य सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाने की प्रेरणा मिलेगी। इससे उन तमाम समस्याओं से उन्हें छुटकारा भी मिलेगा, जिनसे कारोबारी अभी जूझ रहे हैं। दिल्ली उत्तरी भारत का सबसे बड़ा बाजार है। यहां हथकरघा, वस्त्र उद्योग, आर्ट और क्राफ्ट की काफी इंडस्ट्रीज है। पंजाब और गंगा के मैदानों के बीच यह प्रमुख व्यापारिक मार्ग होने के कारण यह महत्वपूर्ण व्यापारिक हब और ट्रेड सेंटर है। यह उम्मीद बांधने के बहुत से कारण है कि स्टार्ट, मैनेज और एक्सपेंड दिल्ली के लघु और मध्यम क्षेत्र के उपक्रमों को साथ लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

तीसरा स्टार्ट, मैनेज एक्सपेंड 2015-16 दिल्ली के लघु और मध्यम क्षेत्र के उपक्रमों के लिए इंडस्ट्री के दिग्गजों और एक्सपटर्स से जुड़ने का बड़ा और बेहतरीन मौका है। इससे वह अपने नए-नए प्रॉडक्ट्स और सर्विस नेशनल प्लेटफॉर्म पर पेश कर सकेंगे। एसएमबी कनेक्ट की इस बैठक में विशेषज्ञ लघु और मध्यम उपक्रमों के 150 से ज्यादा प्रतिनिधियों को व्यापार को आगे बढ़ाने की नीतियों के बारे में बताया।

Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: