Search latest news, events, activities, business...

Wednesday, December 15, 2010

Entertainment meter - film and TV

प्रेमबाबू शर्मा 


नई फिल्म TERA KYA HOGA JOHNNY


तेरा क्या होगा जानी एक संस्पेश थ्रिलर फिल्म हैं। जिसके माध्यम से निर्देशक सुधीर मिश्रा ने फिल्मों के किरदारों के जरिये वर्तमान में बदल रहे जीवन मूल्यों को दिखाने की में की है। फिल्म में अपराधियों के आपस में जुडे तार और उनकी सोच को दशार्या गया हैं। युवा परवेज (नील नितिन मुकेश) का एक ही सपना है कि कम समय में वह अमीर कैसे बने, उसके लिए वह कोई भी मार्ग चुन सकता , लेकिन यह काम इतना आसान भी नही है। वह विवाहित दिव्या (शहाना गोस्वामी) को एक तरफा प्यार करता है। जो भ्रष्ट पुलिस ऑफिसर चिपले (केके मेनन) की पत्नी है। चिपल ने अवैध रूप से  कमाए रुपये को एक फ्लैट में छिपाकर रखता है, परवेज की नजर उन रूपयों पर हैं। परवेश अपने मकसद को अंजाम देने हेतु एक  योजना बनाता है। लेकिन उसके चुने निर्णय से ना केवल उसकी जिंदगी बल्कि कॉफी डिलीवरी बॉय ( सिकंदर अग्रवाल) की जिंदगी में भी उथल-पुथल मच जाती है।


दूसरी ओर प्रीति (सोहा अली खान) एक छोटी-मोटी मॉडल है और विशाल (करण नाथ) अपराधी है। इन सभी किरदारों की जिंदगी के तार कहीं ना कहीं छुट्टा (विजय मौर्या) से जुड़े हैं जो कि एक ड्रग डीलर है। छुट्टा का कहना है ‘समुंदर में हर एक नाम की एक लहर आती है... पकड़ लिया तो नसीब वरना सब वड़ा पाव।

निर्माता  : टूटू शर्मा  सुधीर मिश्रा, निर्देशक : सुधीर मिश्रा, कलाकार : नील नितिन मुकेश,शहाना गोस्वामी, केके  मेनन,सोहा अली खान, विशाल,करण नाथ, विजय मौर्य

************************************************************************************************

HORROR FILM KAALO


इन दिनों फिर से हारर फिल्मों का दौर चल रह रहा है। लेकिन अब पहले की तरह भूत डरावने ना होकर बल्कि एक साधारण रूप में होकर बच्चों की मदद करते है। ऐसी एक फिल्म है कालू। राजस्थानी लोककथा पर आधारित है राजस्थान के कालीगढ नामक एक गांव में छः सौ साल पहले एक चुडैल कालू का आंतक था। एक हादसे में उसकी  दब कर मौत हो जाती  हैं। लेकिन ग्रामीणों को आशंका है कि कालू आज भी जिंदा है और एक दिन जरूर गांव के लोगों को परेषान करेगी। वह सब उससे निबटने और उसके आंतक को कम करने का उपाय खोजते हैं,क्या वे अपने मकसद में सफल हो पाते है? या फिर चुडैल उनकी मदद करती है ? यही फिल्म में रहस्य है। फिल्म का निर्माण ममता पटनायक,यष पटनायक ने किया है और निर्देषक है विल्सन लुईस । धारावाहिक सीआईडी फेम आदित्य श्रीवास्तव, फिल्म के लीड रोल में है अन्य किरदारों में पेंटल, और बाल कलाकार सवनी खेरे भी है।


****************************************************************
 नयी फिल्म मिर्च 



मिर्च की कहानी चार छोटी महिलाओं की मुक्ति के मुद्दों पर आधारित है। इसके समानांतर फिल्म में एक लेखक की वेदना उसके बिखरते सपने और इस व्यवसायिकता के दौर में उसे समाज जीने के लिए अपना ईमान तक बेचना पडता है।


मिर्च कहानी है मानव (अनुरोडे)नामक एक संघर्षरत निर्माता व लेखक की, जिसे जीवन के खोखलपन की अपेक्षा ययार्थवाद भरी जिंदगी ज्यादा पंसद है। उसने एक कहानी लिखी है और वह उस पर एक फिल्म का निर्माण करना चाहता है, लेकिन फाईनेंस ना होने कारण उसकी इच्छा दब जाती है। रूची (शहाना गोस्वामी) , मानव की अभिन्न मित्र है और वह उसकी भावनाओं का समझती है । फिल्मोद्योग मे उसकी अपनी ंएक पहचान एक सफल फिल्म एंडीटर के रूप में  है । वह मानव की मदद में पहल करते हुए है उसे नितिन ( सुशांत सिंह ) नामक निर्माता से मिलवाती है।  लेकिन मानव की षर्त है कि उसकी स्क्रिप्ट के साथ छेडछाड ना हो।  नितिन को स्क्रिप्ट तो पसंद है, लेकिन कहानी वर्तमान की फिल्मों के मुताबिक नही है। नितिन, मानव को स्क्रिप्ट में थोडा फेरबदल करके मूल कहानी में वेबफाई पर आधारित चार और कहानियां, को जोडने के लिए  को कहता है। यह एक अलग प्रकार का विषय है जिसमें पति पत्नी और वो केे संबध को आधार बनाया गया है। क्या मानव हालातों से समझौता कर पायेगा?


निर्माता: मेहजबीन रजा, निर्देशक: विनय शुक्ला , संगीत  : मोंटी शर्मा, गीत   : जावेद अख्तर, कलाकार: कोंकणा सेन, श्रेयस तलपडे, माही गिल, शहाना गोस्वामी वोमन ईरानी, ईला अरूण, टिस्का चोपडा, सौरभ शुक्ला,प्रेम चोपडा, रायमा सेन,अनुरोडे और राजपाल यादव






Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: